Breaking News

क्राइम ब्रांच ने किया खुलासा, Soft Pornography के बिजनेस में Raj Kundra ने ऐसे रखा कदम

राज कुंद्रा (Raj Kundra) जोकि सॉफ्ट पॉर्नोग्राफी (Soft Pornography) केस में फंसे हैं उनका इस बिजनेस में आना कैसे हुआ इस बारे में हर कोई जानना चाहता है। इस मामले में एक कंपनी ArmsPrime का नाम लगातार सामने आ रहा है। इसी ArmsPrime कंपनी के फाउंडर सौरभ कुशवाहा ने अब मुंबई क्राइम ब्रांच (Mumbai Crime Branch) ने खुलासा किया है कि जनवरी 2019 में 85 लाख के निवेश के साथ राज कुंद्रा ऐप कारोबार में आए थे।

इन कंपनियों के कर्मचारियों से हो रही पूछताछ

पॉर्नोग्राफी केस में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) अब हर उस आदमी का बयान रिकॉर्ड कर रही है, जिसने पिछले 3 सालों में राज कुंद्रा (Raj Kundra) के साथ HotShots या ArmsPrime कंपनी में काम किया है। क्राइम ब्रांच ने हाल ही में सौरभ कुशवाहा का बयान रिकॉर्ड किया है, जोकि ArmsPrime का फाउंडर है।

सौरभ की ऐसे हुई राज कुंद्रा से मुलाकात

सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) ने क्राइम ब्रांच को बताया कि अलग-अलग कंपनियों में नौकरी करने के बाद वो अपना OTT बिजनेस करना चाहता था, जिसमें टेक्नोलॉजी के प्रयोग से सेलिब्रिटी, इंफ्लुएंसर और क्रिएटर्स का फैंस के साथ इंटरेक्शन करवा कर सर्विस चार्ज लेने की योजना थी। इस कारोबार को शुरू करने के लिए शुरुआती कैपिटल की आवश्यकता थी। तब एक दोस्त संजय त्रिपाठी के कहने पर मैं जनवरी 2019 में राज कुंद्रा (Raj Kundra) के बंगले किनारा पर उनसे मुलाकात करने गया था।

इतने करोड़ रुपये निवेश करना चाहते थे राज कुंद्रा

सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) ने आगे बताया, ‘राज कुंद्रा (Raj Kundra) को ये आइडिया बहुत अच्छा लगा और वो मेरे कारोबार में 2 करोड़ 70 लाख रुपये निवेश कर कंपनी में डायरेक्टर बनने के लिए मान गए। हालांकि बाद में वो केवल 85 लाख रुपये का ही निवेश कर कंपनी में डायरेक्टर बने और इस प्रकार ArmsPrime की शुरुआत हुई थी।

बनाए 35 सेलिब्रिटीज के ऐप

सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) ने आगे बताया, ‘कंपनी ने हरभजन सिंह, पूनम पांडे, शर्लिन चोपड़ा, सपना सप्पू, गहना वशिष्ठ, मिनिषा लांबा जैसी लगभग 35 सेलिब्रिटीज के लिए ऐप तैयार किये थे। कंपनी दो प्रकार से काम कर रही थी। पहला था Build & Handover, जिसके तहत किसी भी सेलिब्रिटी की आवश्यकता के अनुसार ऐप बनाकर उसे बेच देना। दूसरा था ऐप बनाकर उस कंपनी में शेयर लेना और टेक्निकल राइट्स अपने पास ही रखना। इसमे 70 प्रतिशत हिस्सा आर्टिस्ट के पास और 30% हिस्सा ArmsPrime के पास रहता है।’

इतने लाख में बना HotShots ऐप

सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) ने क्राइम ब्रांच को आगे बताया, ‘कंपनी शुरू होने के 3 महीने के बाद राज कुंद्रा (Raj Kundra) ने सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) से कहा कि लंदन में रहने वाले उनके एक रिलेटिव प्रदीप बख्शी को एक ऐप बनवाना है। अक्टूबर 2019 में कंपनी ने Build&Handover तरीके से HotShots ऐप बनाया और लगभग 18.59 लाख रुपये में केनरिन कंपनी को बेच दिया। इसका भुगतान 5 से 6 इंस्टॉलमेंट में हुआ था।’

ये शख्स बताता था ऐप की समस्याएं

सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) ने आगे बताया, ‘HotShots का भारत में काम देखने वाला उमेश कामत ऐप से जुड़ी समस्याओं को लेकर सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) से संपर्क किया करता था। साथ ही राज कुंद्रा (Raj Kundra) की कंपनी में IT Head के तौर पर काम करने वाला रायन थोर्प भी HotShots और दूसरे OTT से जुड़ी सम्पर्क सौरभ कुशवाहा से करते थे।’

इस कारण राज कुंद्रा ने छोड़ा पद

सौरभ कुशवाहा (Saurabh Kushwaha) ने आगे बताया, ‘अप्रैल और मई 2019 में ArmsPrime की आर्थिक स्थिति बिगड़ने लगी। जिसके बाद राज कुंद्रा (Raj Kundra) को ऐसा कारोबार का मॉडल चाहिए था, जिसमें कारोबार के शुरू होने के बाद ही लाभ आना शुरू हो जाए, मगर OTT और ऐप बिजनेस का काम करने वाली कंपनी ArmsPrime में बिजनेस का बेस बनाने के लिए ही बहुत पैसा लग रहा था। कुछ और महीने के बाद राज कुंद्रा को अपना ये कदम गलत लगने लगा और दिसंबर 2019 में राज कुंद्रा ने कंपनी डायरेक्टर के पद से इस्तीफा दे दिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *