Breaking News

कैप्टन अमरिंदर सिंह आज करेंगे बड़ा सियासी धमाका? कांग्रेस में हलचल हुई तेज

विधान सभा चुनाव (Assembly Elections) से पहले पंजाब (Punjab) में सियासी घमासान तेज होता जा रहा है. सीएम पद छोड़ने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) कांग्रेस (Congress) पर लगातार हमलावर हैं. अब कैप्टन एक और बड़ा धमाका करने के मूड में हैं. पंजाब के पूर्व कैप्टन सीएम अमरिंदर सिंह आज (बुधवार को) सुबह 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस (Amarinder Singh Press Conference) करेंगे. इस दौरान वो अपनी नई राजनीतिक पार्टी का ऐलान कर सकते हैं. इसको लेकर सियासी हलकों में चर्चा है तो वहीं कांग्रेस में हलचल और तेज हो गई.

कैप्टन अमरिंदर सिंह के पंजाब के सीएम पद से हटने के बाद से राज्य में सियासी संग्राम मचा हुआ है. अब पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह दीवाली से पहले बड़ा सियासी धमाका करने की तैयारी में हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह आज मीडिया से मुखातिब होंगे. चंडीगढ़ में इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर सियासी गलियारों में चर्चाओं और अटकलों का बाजार गर्म है. सभी की नजरें कैप्टन पर टिकी हुई हैं. सबसे ज्यादा खलबली कांग्रेस खेमे में मची है.

कैप्टन अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने सोशल मीडिया पर ट्टीट करके इसकी जानकारी जैसे ही दी इसकी चर्चाएं तेज हो गईं कि कैप्टन अपने अगले सियासी कदम का ऐलान कर सकते हैं. माना जा रहा है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह आज अपनी नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक, कैप्टन की नई पार्टी का नाम द पंजाब लोक कांग्रेस (The Punjab Lok Congress) होगा. पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने नए राजनीतिक कदम को लेकर समर्थक नेताओं के साथ पिछले कई दिनों से मंथन कर रहे हैं. चर्चा ये भी है कि कैप्टन अमरिंदर के संपर्क में कांग्रेस के कई नेता और विधायक हैं. ऐसे में कैप्टन की नई पार्टी के ऐलान से कांग्रेस में हलचल मची हुई है. 52 साल के सियासी सफर में 79 साल के कैप्टन के लिए ये दूसरा मौका होगा, जब वो अपनी राजनीतिक पार्टी का गठन करेंगे.

कैप्टन ने 1992 में अकाली दल से अलग होकर शिरोमणि अकाली दल (पंथक) नाम की पार्टी बनाई लेकिन वो इसमें कामयाब नहीं हो पाए. 1998 के चुनाव में उन्हें दो सीटों पटियाला और तलवंडी साबो में हार का सामना करना पड़ा. इसके बाद कैप्टन ने वापस कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर ली थी. पाकिस्तानी पत्रकार अरूसा आलम (Aroosa Alam) को लेकर भी कैप्टन की मुश्किलें बढ़ गई थीं. मीडिया से आज जब कैप्टन रूबरू होंगे तो इस सियासी हंगामे पर भी विरोधियों को वो जवाब दे सकते हैं. साथ ही BSF और कृषि कानून जैसे मुद्दों पर भी अपनी बात रख सकते हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह अगर आज नई पार्टी का ऐलान करते हैं तो पंजाब में कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती कैप्टन ही साबित होने वाले हैं. लिहाजा कैप्टन के हर कदम पर कांग्रेस बारीकी से नजर रख रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *