Breaking News

केंद्र ने कोयला संकट के दावों को नकारा, ऊर्जा मंत्री RK सिंह ने ली अहम बैठक, बोले- गलत मैसेज से कन्फ्यूजन हुआ

 कोयला संकट के दावों को ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने खारिज कर दिया है। डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों और ऊर्जा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारे पास कोयले का पर्याप्त स्टॉक है। उन्होंने किसी भी तरह के बिजली संकट से इनकार किया है। सिंह ने ‘GAIL’ की ओर से गलत मैसेज के चलते कन्फ्यूजन होने की बात कही है। साथ ही कोयला मंत्री के साथ लगातार चर्चा के साथ मॉनिटरिंग के जरिए स्टॉक बढ़ाने का भी दावा किया है। वहीं कोयला संकट पर कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी का ट्वीट आया है।

उन्होंने कहा कि देश में कोयला उत्पादन और आपूर्ति की स्थिति की समीक्षा की। मैं सभी देशवासियों को आश्वासन देता हूं कि देश में बिजली आपूर्ति में बाधा आने का कोई खतरा नहीं है। कोल इंडिया के पास 24 दिनों की कोयला मांग पूरा करने के लिए पर्याप्त 43 मिलियन टन कोल स्टॉक उपलब्ध है। थर्मल पावर प्लांट्स का कोल स्टॉक प्रतिदिन कोयला आपूर्ति करके बढ़ाया जा रहा है। मानसून की वापसी के साथ कोल डिस्पैच में और बढ़ोत्तरी होगी, जिससे कोल स्टॉक बढ़ेगा। मैं एक बार फिर से दोहराता हूं कि देश में पर्याप्त कोल स्टॉक है। भय पैदा करने वाली किसी भी अफवाह के बहकावे में नहीं आएं।

बिजली संयंत्रों में कोयले की कमी पर कांग्रेस नेताओं की टिप्पणी पर केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा कि दुर्भाग्य से कांग्रेस पार्टी के पास विचार खत्म हो गए हैं। उनके पास वोट खत्म हो रहे हैं और इसलिए उनके पास विचार भी खत्म हो रहे हैं।

दिल्ली में डिस्कॉम के साथ बैठक की अध्यक्षता करने के बाद उन्होंने कहा कि हमारे पास औसत कोयला भंडार (पावर स्टेशनों पर) है जो 4 दिनों से अधिक समय तक चल सकता है। स्टॉक हर दिन भर दिया जाता है। मैं (केंद्रीय कोयला और खान मंत्री) प्रल्हाद जोशी के संपर्क में हूं। दिल्ली को आवश्यक मात्रा में बिजली की आपूर्ति की जा रही है और यह जारी रहेगी। गेल द्वारा बवाना गैस पावर प्लांट को सूचित करने के बाद दहशत फैल गई कि वह 2 दिनों के बाद गैस की आपूर्ति बंद कर देगा क्योंकि उनका अनुबंध समाप्त होने वाला था। मैंने आज की बैठक में भाग लेने वाले गेल के सीएमडी से आवश्यक आपूर्ति जारी रखने के लिए कहा है। मैंने गेल के सीएमडी से देशभर के बिजली स्टेशनों को आवश्यक मात्रा में गैस की आपूर्ति जारी रखने के लिए कहा है। उन्होंने मुझे आश्वासन दिया है कि आपूर्ति जारी रहेगी। न पहले गैस की कमी थी, न भविष्य में होगी। वास्तव में न तो कोई संकट था और न ही कोई संकट है। यह अनावश्यक रूप से बनाया गया था। मैंने टाटा पावर के सीईओ को कार्रवाई की चेतावनी दी है यदि वे ग्राहकों को आधारहीन एसएमएस भेजते हैं जो दहशत पैदा कर सकते हैं। गेल और टाटा पावर के संदेश गैर-जिम्मेदाराना व्यवहार के रूप में योग्य हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *