Breaking News

कुछ घंटों में दस्तक देगा खतरनाक चक्रवात तूफान, जानिए कहां से होकर गुजरेगा यह तूफान

पूरा देश कोरोना वायरस (corona virus) का प्रकोप झेल रहा है. इस बीच एक नई आफत मुश्किल बढ़ा रही है. जिसका नाम है चक्रवाती तूफान एमफन (Cyclone Amphan). जो बहुत तेजी से आगे बढ़ता जा रहा है और जैसे-जैसे तूफान आगे बढ़ रहा है वैसे-वैसे मौसम विभाग की चिंता बढ़ रही है. क्योंकि, ये तूफान तबाही मचा सकता है. कहा जा रहा है कि, ओडिशा और पश्चिम बंगाल तट से चक्रवात टकरा सकता है. इन इलाकों में चक्रवात का असर भी दिखना शुरू हो चुका है. मौसम खराब हो चुका है वहीं रविवार को इन इलाकों में तेज बारिश हो सकती है.

कब टकराएगा तूफान
बता दें, दो दिन पहले ही सुबह बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व में कम दबाव का एक क्षेत्र देखा गया था. तभी से आशंका जताई जा रही थी कि, ये तूफान का रूप लेकर तटीय इलाकों से टकरा सकता है. तूफान की गति को देखते हुए विभाग मानना है कि, 18 से 20 मई के बीच एमफन कभी भी टकरा सकता है. इसलिए अलर्ट रहना जरूरी है.

कहां पहुंचा तूफान?
मौसम विभाग की तरफ से जारी ताजा बुलेटिन के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पूर्व में तूफान देखा जा रहा है और अब ये उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ रहा है. हवा की गति 6 किलोमीटर प्रतिघंटा है. विभाग ने तूफान से तट की दूरी का हिसाब लगाते हुए बताया कि, ओडिशा के पारादीप से 1100 किलोमीटर दक्षिण में है. जबकि पश्चिम बंगाल के दीघा से इसकी इस समय दूरी 1160 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की तरफ है.

खतरनाक तूफान की आहट
मौसम विभाग का मानना है कि, आने वाले 12 घंटे किसी मुसीबत से कम नहीं है क्योंकि, इस बीच तूफान अपना आक्रामक रूप ले सकता है और 18 मई की सुबह हवा की रफ्तार 140-150 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है, जबकि 19 मई को हवा 190 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चल सकती हैं.Cyclone Amphanतूफान आने की आहट कई इलाकों में सुनाई भी देने लगी है. अंडमान निकोबार इलाके में मौसम खराब की वजह से बारिश शुरू हो चुकी है. वहीं सोमवार यानि 18 मई को तटीय इलाकों पर तेज बारिश हो सकती है.

सरकार पूरी तैयारी में
चक्रवाती तूफान की जानकारी मिलने के बाद सरकार ने इस मुसीबत से निपटने के लिए तैयारी कर ली है. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ), सशस्त्र बलों और भारतीय तटरक्षक बल को सतर्क कर दिया गया है. इसके अलावा गृह, रक्षा मंत्रालयों के साथ-साथ भारतीय मौसम विभाग और एनडीआरएफ के वरिष्ठ अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक में हिस्सा लिया. इस बैठक में आपदा से कैसे निपटा जाए इन सारी बातों पर चर्चा की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *