Breaking News

कार हादसे में 4 लोगों की हुई थी मौत, अब खौफनाक साजिश का ये नया एंगल आया सामने

राजस्थान के चर्चित कार हादसे (Rajasthan car accident) में खौफनाक साजिश का नया एंगल सामने आया है. इसमें चार लोगों की मौत हो गई थी. अब पता चला है कि यह सब सोची-समझी साजिश की वजह से हुआ. बता दें कि हनु के पास इंदिरा गांधी नहर में कार डूबने से 9 फरवरी को चार लोगों की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा कर हत्या के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. जानकारी मिली है कि सोची-समझी साजिश के तहत आरोपी ने सम्पत्ति विवाद में अपने काश्तकार के साथ मिलकर कार को नहर में धक्का देकर 4 लोगों की हत्या कर दी थी. उसने इसे दुर्घटना का रूप देने की कोशिश की, जो पुलिस ने नाकाम कर दी.

यह है मामला 16 फरवरी को गंगानगर निवासी रमेश कुमार अरोड़ा ने थाना हनुमानगढ़ टाउन में एक रिपोर्ट पेश की. जिसमे बताया कि 09 फरवरी को उसके जीजा विनोद कुमार बाघेला पूरे परिवार व वार्ड नम्बर-26 संगरिया निवासी दोस्त रमेश कुमार स्वामी के साथ बेटी दीया को सीकर के सीएलसी कोचिंग सेंटर में छोड़ने गए थे. शाम को दीया को छोड़कर वापस आते समय रात को उनकी कार लखुवाली हैड के पास इंदिरा गांधी नहर में गिर गई, जिसमे कार सवार जीजा विनोद बाघेला, बहन रेणु बाघेला, भांजी इशिता व सुनीता की मौत हो गई. रिपोर्ट में कहा गया था कि कार जीजा का दोस्त रमेश कुमार स्वामी चला रहा था, जिसने लापरवाही से गाड़ी इंदिरा गांधी नहर में गिरा दी. उसपर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज करने की बात की गई.

रमेश ने कहा- गाड़ी मैं लेकर चलता हूं

मामला चार लोगों की मौत का था. इसे गंभीरता से लेते हुए आईजी प्रफुल्ल कुमार के अंडर जांच शुरू हुई. जांच के दौरान सामने आया कि आरोपी रमेश कुमार स्वामी का मृतक विनोद कुमार के साथ सम्पति को लेकर विवाद था. जिसने जनवरी, 2021 से विनोद कुमार की हत्या की योजना बनानी शुरू कर दी थी. विनोद कुमार को अपनी बेटी दीया को सीकर छोड़ने जाना था. इस बात का पता चलने पर रमेश कुमार ने चालक के रूप में स्वयं चलने के लिये कहा तो विनोद सहमत हो गया.

घटना से एक दिन पहले 8 फरवरी को रमेश ने अपने काश्तकार राम लाल को योजना में मिलाया. 9 फरवरी को विनोद सपरिवार बेटी दीया को सीकर कोचिंग सेंटर में छोड़ने गया. कार रमेश स्वामी चला रहा था. सीकर से वापस लौटते समय पूर्व योजना अनुसार लखुवाली हैड पर नहर के बिल्कुल नजदीक कार रोक पेशाब के बहाने नीचे उतरा ओर पहले से मौजूद काश्तकार राम लाल नायक के साथ मिल कार को धक्का देकर नहर में गिरा दिया. जिससे कार में सवार विनोद कुमार व उसकी पत्नी रेणु बाला, बेटी ईशिका व श्रीमती सुनीता भटी की मौत हो गई. जांच के दौरान रमेश स्वामी द्वारा हाईकोर्ट में रिट पिटिशन दायर की गई. हाईकोर्ट ने आदेशित किया कि आप अपना पक्ष IO के समक्ष 15 दिन में पेश करें व IO दिये गये बिन्दुओं पर जांच कर गिरफ्तारी से पहले 15 दिन का नोटिस आरोपी को प्रदान करें. हाईकोर्ट के आदेश का पालन करते हुए आरोपी रमेश स्वामी पेश हुआ और पूछताछ में उसने अपना जुर्म कबूल लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *