Breaking News

कानपुर एनकाउंटर: विकास के घर पुलिस की छापेमारी, भाई फरार, भाभी के पास निकली रिवॉल्वर

बीते दिन हुए कानपुर एनकाउंटर मामले ने पूरे उत्तर प्रदेश में सनसनी का माहौल बना कर रख दिया है. बता दें कि शिवली का डॉन कहे जाने वाला हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे अब पुलिस के साथ लुका-छुपी का खेल, खेल रहा है. हालांकि वो इस बात से अनजान है कि पुलिस किसी न किसी तरह हत्यारे को ढूंढ ही निकालेगी. दरअसल हिस्ट्रीशीटर के नाम से मशहूर विकास दुबे कानपुर में हुई मुठभेड़ में 8 पुलिसवालों पर ताबड़तोड़ गोलियों से वार कर मौके से फरार हो गया था. जिसकी पुलिस अब तलाश में जुटी है. हालांकि पुलिस अब भगोड़े विकास दुबे का ऐसा कोई भी ठिकाना नहीं छोड़ रही जहां यह छुप सकता है. बता दें कि पुलिस इस हत्यारे को पकड़ने के 100 से भी ज्यादा छापेमारी कर चुकी है. लेकिन इस बीच एसटीएफ की टीम ने लखनऊ स्थित कृष्णानगर इलाके की इंद्रलोक कॉलोनी में विकास दुबे के घर पर हमला बोल दिया. बताया जा रहा है कि पुलिस को यहां नौकर के सिवाय कोई नहीं मिला. हालांकि जब पुलिस ने तलाशी तेज की तो कुछ पेन ड्राइव आदि मिली जो जब्त कर ली गई हैं. वहीं पुलिस ने तलाशी करते-करते विकास के भाई दीप के घर भी छापा मारा. तो यहा्ं दीप की पत्नी के पास रिवाल्वर बरामद हुई. पुलिस रिवॉल्वर को जब्त कर पता लगाएगी कि यह सरकारी है या प्राइवेट. हालांकि विकास की भाभी ने दावा किया है कि यह रिवॉल्वर लाइसेंसी है.

पुलिस ने जब उसके भाई दीप के घर छापेमारी की तो, पता चला सिर्फ उसकी पत्नी ही घर पर है. बाकि लोग फरार हो गए. बताया जा रहा है कि घटना के बाद से दीप फरार हो गया. पुलिस के मुताबिक उसका मोबाइल फोन स्विच ऑफ बता रहा है.

 

पुलिस के बताया कि विकास के घर पर दबिश के दौरान नौकर मिला. यहां तलाशी ली गई. पता चला कि विकास दुबे अपनी पत्नी, दो बेटों के साथ रहता था. इसके अलावा पुलिस टीम ने लखनऊ में कई अन्य जगह विकास की तलाश में उसके संभावित ठिकानों पर रेड की लेकिन सफलता हाथ नहीं लग सकी.

 

बहरहाल इस पूरे मामले में पुलिस अब उसकी कॉल डिटेल निकाल रही है. बताया जा रहा है कि पुलिस इसके जरिए ही हत्यारे विकास दुबे के पास पहुंच सकती है. हालांकि जब पुलिस ने विकास के घर छापेमारी की वहां सिर्फ उसकी भाभी मौजूद थी. जिसके पास से रिवॉल्वर भी बरामद हुई है. वहीं इस घटना के बाद से भाई भी अंडरग्राउंड हो गया है. पुलिस का दावा है कि जल्द इन अपराधियों को जेल की चार दीवारी के पीछे खड़ा किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *