Breaking News

कई और महिला सुसाइड अटैकर्स मौजूद हैं कराची यूनिवर्सिटी में, जाने चीनी प्रोफेसर पर हमले की पूरी कहानी

कराची यूनिवर्सिटी (Karachi University) में आत्मघाती हमले (suicide attack) की जांच कर रहे पाकिस्तानी जांचकर्ताओं ने प्रतिबंधित बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (BLA) के स्लीपर सेल में और भी महिला फिदायीन हमलावरों की मौजूदगी से इनकार नहीं किया है. पुलिस ने गुरुवार को आत्मघाती हमलावर के पति को हिरासत में लिया. इस दौरान उसने दावा किया कि उसकी पत्नी मानसिक रूप से बीमार थी. पता चला है कि महिला 60 बिलियन डॉलर के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) की विरोधी थी.

चीन के तीन प्रोफेसर की हो गई थी मौत
बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (BLA) की बुर्का पहनी महिला ने मंगलवार को आत्मघाती हमला किया गया था. इस धमाके में तीन चीनी प्रोफेसर्स की मौत हो गई थी. घटना के बाद प्रतिबंधित BLA ने सोशल मीडिया के जरिए जिम्मेदारी ली थी और घोषणा की कि हमलावर महिला थी और उसका नाम शैरी बलूच था. शैरी बलूचिस्तान के तुरबत में एक स्कूल में टीचर थी और उसके दो बच्चे भी थे.

पति के दावे पर जांच अधिकारी को आपत्ति
बलूचिस्तान के संसदीय सूचना सचिव बुशरा रिंद ने गुरुवार को मीडिया को बताया कि हमलावर के पति हैबटन ने बताया है कि उसकी पत्नी मानसिक रूप से बीमार थी. उसका इलाज चल रहा था. उसकी पत्नी दोनों बच्चों के साथ बलूचिस्तान के गुलिस्तान-ए-जौहर में रहती थी. वहीं, मामले की जांच में जुटे एक अधिकारी ने आत्मघाती हमलावर के मानसिक रूप से अस्थिर होने के दावों पर आपत्ति जताई.

मजीद ब्रिगेड से जुड़ी थी महिला हमलावर
सिंध पुलिस के एंटी टेरेरिज्म डिपार्टमेंट ने कहा कि प्रारंभिक जांच में पुष्टि हुई है कि वह प्रतिबंधित मजीद ब्रिगेड का हिस्सा थी. मजीद ब्रिगेड BLA का एक हिस्सा है, जिसने आत्मघाती हमलावर महिला का ब्रेनवॉश किया था. एक अधिकारी ने कहा कि इसकी संभावना है कि मजीद ब्रिगेड और भी महिला आत्मघाती हमलावरों का ब्रेन वॉश कर सकता है.

पंजाब यूनिवर्सिटी से एक छात्र गिरफ्तार
जांच अधिकारी ने बताया कि शैरी बलूच ने अकेले हमले को अंजाम नहीं दिया था. यूनिवर्सिटी के एंट्री गेट पर उसकी मदद की गई थी. बुधवार को पंजाब पुलिस के काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (CTD) ने कराची यूनिवर्सिटी में हुए आत्मघाती हमले के सिलसिले में लाहौर की पंजाब यूनिवर्सिटी से एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है. CTD के एक सूत्र ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि खुफिया एजेंसियों ने लाहौर में फोन के जरिए शैरी बलूच के संपर्क में रहने वाले एक संदिग्ध का पता लगाया और उसे पंजाब यूनिवर्सिटी के एक हॉस्टल में छापेमारी के दौरान गिरफ्तार कर लिया.

इंग्लिश लिटरेचर का छात्र है संदिग्ध
संदिग्ध की पहचान इस्लामाबाद के न्यूमल में अंग्रेजी लिटरेचर के सातवें सेमेस्टर के छात्र बेबगर इमदाद के रूप में हुई है. बेबगर उसी इलाके से संबंध रखता है जहां शैरी बलूच रहती थी. यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता खुर्रम शहजाद ने बताया कि बेबगर दो दिन पहले इस्लामाबाद से लाहौर आया था. मंगलवार को वह हिस्ट्री डिपार्टमेंट के छात्र से मिलने हॉस्टल गया जो उसका चचेरा भाई है.

हमले में विदेशी एजेंसी के शामिल होने का शक: CTD
CTD अफसर ने यह भी कहा कि शैरी बलूच ने कराची यूनिवर्सिटी से नहीं बल्कि बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी से बीई और एमई की पढ़ाई की थी फिर एक सरकारी शिक्षक के रूप में भी काम किया था. अधिकारी ने कहा कि हमें इस हमले में एक विदेशी खुफिया एजेंसी के शामिल होने का भी शक है.

बेबगर की रिहाई को लेकर छात्र संगठन का प्रदर्शन
वहीं पंजाब यूनिवर्सिटी में बलूच स्टूडेंट यूनियन ने यूनिवर्सिटी के बाहर प्रदर्शन कर बेबगर को रिहा करने की मांग की. उन्होंने कहा कि एजेंसियों की हिरासत से बेबगर की रिहाई तक विरोध जारी रखेंगे.

पाक-चीन के संबंध बिगाड़ना चाहता है BLA
BLA पाकिस्तान और चीन के बीच संबंधों को कमजोर करना चाहता था. उन्होंने बताया कि गुरुवार को कराची स्थित एक सोसायटी में हमलावर के पिता के घर पर छापेमारी की गई. छापेमारी के दौरान लैपटॉप और दस्तावेज समेत अन्य सबूत जब्त किए गए.

हमलावर महिला का किराए पर लिया अपार्टमेंट सील
बलूचिस्तान में सुरक्षा एजेंसियों ने गुलिस्तान-ए-जौहर में आत्मघाती हमलावर महिला के अपार्टमेंट की भी तलाशी ली और फिर उसे सील कर दिया. अपार्टमेंट किराए पर लिया गया था. हमलावर पिछले तीन साल से वहां रह रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *