Breaking News

एक साथ उठीं पांच बच्चों की अर्थियां, पूरे गांव में छाया मातम

राजस्थान (Rajasthan ) के जालोर जिले(Jalore District )के करड़ा क्षेत्र के दातवाड़ा में इस समय मातम का आलम है, हर जगह रोने चीखने की आवाजे ही सुनाई दे रही हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि करड़ा-रानीवाड़ा सड़क मार्ग पर सरहद दांतवाड़ा में एक इनोवा ने एक साथ 5 बच्चों को कुचल कर उनकी जीवन लीला को समाप्त कर दिया, एक की हालत अभी नाजुक है और उसका इलाज चल रहा है.

एक साथ गांव से उठी पांच अर्थियां

पूरे गांव में इस दर्दनाक हादसे के बाद मातम छाया हुआ है. घटना के बाद से पूरे गांव में किसी भी घर में चूल्हा नहीं फूंका गया है. बीते दिन यानि की गुरुवार को सभी बच्चों का अंतिम संस्कार किया गया. जब गांव में एक साथ पांच बच्चों की अर्थियां उठीं को पूरे गांव का दिल भर आया और हर जगह बस रोने और चिल्लाने की आवाजों से दिल दहल उठा. जिसने भी इस दृश्य को देखा, वो अपने आसुंओं को रोक ना सका. एक साथ पांच बच्चों की अर्थी देख सबका कलेजा फटा जा रहा था. मृत बच्चों के परिजनों में कार चालक के प्रति गुस्सा दिखाई दिया है. उनका कहना है कि वो उसे हर हाल में सजा दिवाएंगे.

नशे के कारण गई 5 बच्चों की जान

बता दें कि  जालोर जिले में धीरे धीरे नशेड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है, जिसके कारण हर जगह इनका आतंक छाया हुआ है. शराब के नशे में एक नशेड़ियों ने स्कूल से निकले इन नन्हें मुन्हें बच्चों को अपनी कार की चपेट में ले लिया. इनमें से 5 बच्चों की मौत वहीं पर हो गयी और एक अस्पताल में भर्ती है. उस समय तो सारे नशेडी वहां से फरार हो गये, लेकिन  पुलिस ने इन सभी आरोपियों को गिरफ़्तार लिया है.

मुख्यमंत्री ने भी जताया दुख

इस घटना से आसपास का पूरा क्षेत्र खौफ में हैं. इस घटना की जानकारी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को मिली तो उन्होंने भी इस पर दुख जताया है.  ट्वीट कर सीएम ने कहा कि जालोर में करडा क्षेत्र के गांव दांतवाड़ा में गाड़ी की टक्कर से स्कूल से लौट रहे 5 बच्चों की मृत्यु बेहद हृदयविदारक व दुर्भाग्यपूर्ण है, मेरी गहरी संवेदनाएं शोकाकुल अभिभावकों एवं परिजनों के साथ हैं, ईश्वर उन्हें संबल प्रदान करें। घायल बच्ची के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना है।

इसके अलावा पूर्व मुख्य सचेतक रतन देवासी ने भी इस घटना पर अपनी प्रतिक्रिया रखी है और कहा कि इस बारे में सरकार की ओर से हर संभव मदद की जाएगी. साथ ही देवासी ने पुलिसिया कार्यप्रणाली पर अपना गुस्सा भी जाहिर किया और कहा कि जिले में बड़ी मात्रा में शराब स्मैक सहित तमाम तरह की नशेड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है ऐसे में इन पर लगाम लगाने की जरूरत बहुत ज्यादा है. पुलिस कार्यप्रणाली पर भी देवासी ने नाराजगी जाहिर की और कहा कि अगर इन लोगों को पुलिस ने न्याय नहीं दिलाया तो आने वाले दिनों में स्थानीय पुलिस के विरोध में नारेबाजी व धरना प्रदर्शन भी किया जाएगा.

इतना ही नहीं इस विकराल घटना पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी एक ट्वीट किया और दुख प्रकट किया है. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा कि जालौर में सड़क दुर्घटना में बच्चों की मृत्यु का समाचार हृदय विदारक है. ईश्वर दिवंगत आत्माओं को अपने श्रीचरणों में स्थान दें. शोक संतप्त परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. घायल बच्चों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना है.

कुछ दिन पहले ही गईं थी 4 भाई बहनों की जान

इसके कुछ दिन पहले ही एक साथ 4 भाई बहन और 1 बच्चें की मौत की खबर सामने आई थी, जहां सभी बच्चे घर पर लुकाछिपी खेल रहे थे और घर पर बच्चों के अलावा कोई और नहीं था. अनाज के टंकी में पांचो बच्चों के घुस जाने के कारण उनका दम घुटने से मौत हो गयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *