Breaking News

उत्तर कोरिया पर सभी का निशाना,चीन पहुंचे साउथ कोरिया के विदेश मंत्री

अमेरिका (America) के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने उत्तर कोरिया (North Korea) के मुद्दे पर जापान और दक्षिण कोरिया (South Korea) में अपने समकक्षों से शुक्रवार को बात की. बाइडेन प्रशासन (Biden Administration) उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रमों समेत उससे निपटने के लिए अपनी रणनीति पर विचार कर रहा है. बाइडेन प्रशासन ने उत्तर कोरिया से निपटने की अपनी रणनीति का अभी खुलासा नहीं किया है. हालांकि इस हफ्ते प्रशासन ने बताया कि उसकी नीतियों की समीक्षा अंतिम चरण में हैं.

उत्तर कोरिया ने ऐसे परीक्षण करने से रोकने संबंधी संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का उल्लंघन कर पिछले महीने छोटी दूरी की दो बैलिस्टिक मिसाइलों का समुद्र में परीक्षण किया था. कुछ विशेषज्ञों ने मिसाइल प्रक्षेपण देखा था. इस साल उत्तर कोरिया द्वारा किया गया इस तरह का यह पहला प्रक्षेपण है. उत्तर कोरिया का अमेरिका और दक्षिण कोरिया में नए प्रशासन के आने के बाद मिसाइल प्रक्षेपण का इतिहास रहा है.

हिंद प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा के मुद्दों पर हुई चर्चा

व्हाइट हाउस ने एक बयान में बताया कि जापान के शिगेरु कितामुरा और दक्षिण कोरिया के सुह हून के साथ शुक्रवार को मेरीलैंड के एनापोलिस में अमेरिकी नौसेना अकादमी में सुलिवन की बातचीत हुई. इस दौरान अमेरिका की नीति समीक्षा समेत हिंद प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा के अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई. अधिकारियों ने उत्तर कोरिया के परमाणु एवं मिसाइल प्रक्षेपण कार्यक्रमों को लेकर चिंता व्यक्त की और इन मुद्दों के समाधान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जताई. हालांकि व्हाइट हाउस की ओर से जारी ब्योरे में इस बात का जिक्र नहीं किया गया है कि जापान और दक्षिण कोरिया के सुरक्षा अधिकारियों ने अमेरिकी योजना पर क्या प्रतिक्रिया दी?

चीन पहुंचे साउथ कोरिया के विदेश मंत्री

दूसरी ओर दक्षिण कोरिया के विदेश मंत्री ने शनिवार को दक्षिणी चीन के जियामेन शहर में अपने चीनी समकक्ष के साथ मुलाकात की. दक्षिण कोरिया अपने शीर्ष कारोबारी साझेदार चीन के साथ रिश्तों को और मजबूत करना चाहता है. अपनी यात्रा से पहले दक्षिण कोरिया के नवनिर्वाचित विदेश मंत्री चुंग ई योंग ने पत्रकारों से कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ वार्ता के दौरान उत्तर कोरिया प्रमुख मुद्दा रहेगा. अपने शुरुआती बयान में वांग ने कहा कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच जारी परमाणु गतिरोध के बीच स्थायी शांति के लिए मौजूदा नीति के तहत चीन और दक्षिण कोरिया कोरियाई प्रायद्वीप मुद्दे के राजनीतिक समाधान के वास्ते प्रक्रिया पर विचार-विमर्श करेंगे. चुंग ने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप का पूर्ण रूप से परमाणु मुक्त होना चीन और दक्षिण कोरिया का साझा उद्देश्य है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *