Breaking News

उत्तराखंड को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में मोस्ट फिल्म फ्रेंडली पुरस्कार प्राप्त हुआ, मुख्यमंत्री धामी ने प्रदेशवासियों को दी बधाई

उत्तराखंड को 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में मोस्ट फिल्म फ्रेंडली (स्पेशल मेंशन) पुरस्कार प्राप्त हुआ है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इसके लिए प्रदेशवासियों को बधाई दी है। पिछले कुछ वर्षों के दौरान उत्तराखंड देश में फिल्मों व धारावाहिकों की शूटिंग के लिए पसंदीदा स्थल के रूप में उभरा है।

पांच वर्षों में छह सौ से अधिक फिल्मों व धारावाहिकों की शूटिंग

उत्तराखंड की नैसर्गिक सुंदरता बरबस फिल्मकारों को यहां शूटिंग के लिए आकर्षित करती है। फिल्मों व धारावाहिकों की शूटिंग के लिए अनुकूल माहौल यहां उपलब्ध है। उत्तराखंड की फिल्म नीति से आकर्षित होकर पिछले पांच वर्षों के दौरान ही छह सौ से अधिक फिल्मों व धारावाहिकों की यहां शूटिंग हुई है। उत्तराखंड फिल्म विकास परिषद के नोडल अधिकारी केएस चौहान के अनुसार उत्तराखंड फिल्मकारों के लिए पसंदीदा शूटिंग डेस्टिनेशन बना हुआ है।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2015 से लेकर अब तक उत्तराखंड में शूटिंग के लिए कुल 784 फिल्म अनुमति प्रमाणपत्र जारी किए गए हैं। अभी तक उत्तराखंड को बेस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट के अंतर्गत तीन बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में उत्तराखंड शूटिंग के लिहाज से फिल्म हब बनने जा रहा है। इससे उत्तराखंड में रोजगार के साधन बढऩे के साथ-साथ पर्यटन के क्षेत्र में भी भारी वृद्धि हो रही है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है। साथ ही यह सभी देवभूमिवासियों के लिए गौरवान्वित करने वाला क्षण है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने यहां फिल्मों की शूटिंग के लिए अनुकूल वातावरण तैयार किया है। विशेष प्रमुख सचिव सूचना अभिनव कुमार ने कहा कि राज्य में फिल्मों की शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

फिल्म सिटी के निर्माण के लिए उपयुक्त भूमि की तलाश की जा रही है। फिल्म नीति में और अधिक सुधार किए जा रहे हैं। इसमें अब ओटीटी प्लेटफार्म को भी शामिल किया जा रहा है।

उत्तराखंड ने नवाचार में आगे बढ़ाए कदम

वहीं उत्तराखंड ने नवाचार में हिमालयी राज्यों में बेहतर प्रदर्शन कर लोहा मनवाया है। नीति आयोग की ओर नवाचार को लेकर जारी इंडिया इनोवेशन इंडेक्स की समग्र रैंकिंग में प्रदेश दूसरे स्थान पर रहा है। पहला स्थान मणिपुर ने प्राप्त किया है। पूर्वोत्तर और पहाड़ी राज्यों की समग्र रैंकिंग के अनुसार मणिपुर 19.39 अंकों के साथ पहल स्थान पर है।

उत्तराखंड 17.67 अंकों के साथ दूसरे और 16 अंकों के साथ मेघालय तीसरे स्थान पर रहा है। अरुणाचल प्रदेश 15.46 अंकों के साथ चौथे और हिमाचल 14.62 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर है। सिक्किम ने 13.85 अंक प्राप्त कर छठा स्थान हासिल किया है। मिजोरम, त्रिपुरा, असम और नागालैंड क्रमश: सातवें, आठवें, नौवें और 10वें स्थान पर हैं।

नीति आयोग ने इनोवेशन इंडेक्स में राज्यों का आकलन पांच मापदंडों पर किया। मानव संपदा, निवेश, शिक्षित-प्रशिक्षित कार्मिक, व्यापार का वातावरण और सुरक्षित एवं विधिक वातावरण के पैमाने पर आकलन में पर्वतीय राज्यों में उत्तराखंड ने उत्साह के साथ कदम आगे बढ़ाया है।

प्रदेश में शिक्षित मानव संपदा, निवेश और व्यापार के लिए वातावरण अपेक्षाकृत अच्छा पाया गया है। व्यापार व उद्योग को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदमों ने राज्य की रैंकिंग को बेहतर बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *