Breaking News

उज्‍जैन में जहरीली शराब से अब तक 11 लोगों की मौत, चार पुलिसवाले निलंबित

मध्यप्रदेश के उज्जैन के पुराने शहर में पिछले दो दिनों में जहरीली शराब के सेवन से मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। इस मामले में प्रशासन ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया है, जिन पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई की जायेगी।
आधिकारिक जानकारी में जिला कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि पिछले दो दिनो में संभवत: ‘डीनेचर्ड स्पिरिट’ पीने से अब तक कुल 11 व्यक्तियों की संदिग्ध मृत्यु हो चुकी है। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद बिसरा जांच के लिए सागर लैबोरेटरी में आज ही भेजा जाएगा।
इस मामले में आज थाना प्रभारी सहित चार पुलिस कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुराने शहर क्षेत्र में खाराकुंआ थाना क्षेत्र में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से सात लोगों की संदिग्ध मौत के मामले में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने लापरवाही एवं वरिष्ठ अधिकारियो को समय पर जानकारी नही देने के मामले में खाराकुंआ थाना प्रभारी एम एल मीणा, उप निरीक्षक निरंजन शर्मा, आरक्षक नवाज शरीफ एवं शेख अनवर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में आज 20 वर्षीय कालू का शव बरामद किया है। पुलिस को आशंका है कि इसकी मौत भी अत्यधिक शराब पीने के कारण हुई है। फिलहाल उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। कल पुलिस ने उज्जैन शहर के चार थाना क्षेत्रों के सार्वजनिक स्थलों से एक ही दिन में आधा दर्जन से अधिक शव बरामद कर मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया गया है।
इधर, पुलिस नियंत्रण कक्ष से आज यहां जारी विज्ञप्ति में बताया कि सबसे ज्यादा शव खाराकुंआ पुलिस ने फुटपाट और रोड के किनारे से बरामद किए हैं। खाराकुंआ पुलिस ने अचानक तबीयत खराब होने के कारण मृतक अवस्था में सार्वजनिक स्थल से विजय (40), शंकर (47), ओमकार (70), बबलू (40) और 70 वर्षीय एक अज्ञात व्यक्ति का शव एक मकान से बरामद किया है। खाराकुंआ पुलिस ने बद्री (65) को ज्यादा शराब पीने के बाद इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती किया था, लेकिन बाद में उसकी भी मौत हो गयी।
इसी प्रकार अधिक शराब पीने से मौत होने के कारण महाकाल पुलिस ने पीरुशाह (45) का शव बरामद किया है। इसके अलावा कोतवाली पुलिस ने दिनेश जोशी (45) और देवासगेट पुलिस ने विक्रम परमार का मृत अवस्था में सार्वजनिक स्थल से शव बरामद अस्पताल भेजा। पुलिस ने इन सभी मामलों में मर्ग कायम कर जांच में लिया है। जांच के बाद ही सभी की मौत के मामले का खुलासा होगा।
कलेक्टर सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार कड़ी कार्रवाई की जायेगी। प्राथमिक जांच में दो-तीन संदिग्धों के नाम सामने आये हैं, उनके विरूद्ध रासुका की कार्रवाई की जा रही है। जांच में कुछ दवा स्टोर्स के नाम भी सामने आये हैं, जिनके स्टाक के वेरिफिकेशन का कार्य किया जा रहा है। दवा बाजार स्थित एक मेडिकल दुकान से निर्धारित मात्रा से अधिक स्पीरिट पाये जाने पर उसे सील किया गया है।
उन्होने बताया कि नगर निगम और डॉक्टर्स की टीम को फुटपाथ एवं रैन बसेरों में रह रहे लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए लगाया गया है, जिनके द्वारा जांच की जा रही है, जिससे कि अन्य किसी व्यक्ति द्वारा भी इस तरह के डीनेचर्ड स्पिरिट का सेवन किया गया हो तो उसकी जान बचाई जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *