Breaking News

इस रिसर्चर ने भूखे शेर से लड़ कर बचाई जिन्दगी, अब हो रही तारीफ

जब जिन्दगी जीने का जज्बा और साहस हो तो बड़ी से बड़ी मुसिबत छोटी पड़ जाती है। आदमी बाधाओं से निकलकर जिन्दगी की राह खोज लेता है। दक्षिण अफ्रीका के जंगल में एक भूखे शेर ने गोट्ज नीफ नाम के शोधार्थी पर हमला कर दिया। शेर के हमले से नीफ पूरी तरह से घायल हो गये। नीफ के शरीर पर 16 जख्म होने के बाद मुश्किल से शोधकर्ता की जान बची। दक्षिण अफ्रीका के बोत्सवाना के जंगल में एक भूखे शेर ने एक वन्य-जीव शोधकर्ता गोट्ज नीफ पर हमला कर दिया और काफी मशक्कत के बाद उन्होंने अपनी जान बचाई। नीफ के हाथ की हड्डी भी टूट गई है। फिलहाल वह खतरे से बाहर हैं और अस्पताल में इलाज चल रहा है। उनके शेर से बच कर आने से लोग खुष हैं और लोग सोशल मीडिया पर उनको प्रोत्साहित कर रहे हैं। नेशनल ज्योग्राफिक सोसाइटी द्वारा फंडेड वाइल्ड बर्ड ट्रस्ट के आठ लोग इन जंगलों में वाइल्डलाइफ रिसर्च करने पहुंचे थे। इस टीम में 32 साल के रिसर्चर गोट्स नीफ भी शामिल थे। 7 दिसंबर की रात जब गोट्स नीफ अपने टेंट में सो रहे थे, तब रात में करीब 1.30 बजे शेर ने उन पर हमला किया और उन्हें मारने की कोशिश की। शेर का अचानक हमला होने से वह सम्भलते तब तक शेर उन्हें घायल कर दिया। उन्होंने षेर का डटकर मुकाबला किया। गोट्स नीफ की चीखें सुनकर पास के टेंट में मौजूद वाइल्ड बर्ड ट्रस्ट के रिसर्च डायरेक्टर डॉ रेनर वॉन ब्रैंडिस बाहर निकले तो देखा कि शेर ने नीफ पर हमला किया है और वह बचने की कोशिश कर रहे हैं।

डॉ. रेनर वॉन ने कहा कि जब मैं टेंट से बाहर निकला तो देखा कि शेर लगातार नीफ पर पंजे और दांत मार रहा है। नीफ भी लगातार संघर्ष कर रहे थे। मैंने वहां बड़ी पेड़ों की टहनियां और हाथी की लीद शेर पर फेंकी लेकिन उस पर कोई असर नहीं हुआ। शेर लगातार हमले किये जा रहा था। इसके बाद मैंने एक लकड़ी से भी शेर पर हमला किया फिर भी शेर ने नीफ को नहीं छोड़ा। डॉ रेनर वॉन ने बताया कि कई कोशिश के बाद भी मैं नीफ को बचा नहीं पा रहा था। इसके बाद हमारे हेड रेंजर टोमलेट्स सेटलाबोसा ने शेर पर फ्लैश बैंग फेंक कर मारा। फ्लैश बैंगर के चलते बहुत तेज आवाज और लाइट होती है जिस कारण शेर की आंखें कुछ देर के लिए चैंधिया गईं और उसने नीफ को छोड़ दिया।

डॉ. रेनर वॉन ने बताया कि शेर ने कुछ देर के लिए गोट्स नीफ को छोड़ दिया। शेर काफी भूखा था और कुछ ही पल में दोबारा हमला करने लगा। इसके बाद मैंने और हेड रेंजर टोमलेट्स सेटलाबोसा ने शेर पर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की। तीन-चार कोशिश के बाद हम शेर को डराने में कामयाब रहे और वो जंगल की ओर भाग गया। शेर के भागने के बाद डॉक्टर रेनर और टोमलेट्स सेटलाबोसा उन्हें लेकर अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहुंचने के बाद पता चला कि गोट्स नीफ के शरीर पर शेर के दांतों से 16 घाव लगे हैं जबकि उनके हाथ और कोहनी की हड्डी भी टूट गई है। फिलहाल गोट्स नीफ का इलाज चल रहा है और वह धीरे-धीरे ठीक हो रहे हैं। सोषल मीडिया पर उनकी तारीफ हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *