Breaking News

इस बार भी दिल्लीवालों की दिवाली होगी सूनी, सीएम अरविंद केजरीवाल ने लिया ये बड़ा फैसला

इस दिवाली भी केजरीवाल सरकार ने पटाखों पर प्रतिबंध लगा दिया है. इसकी जानकारी खुद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने एक ट्वीट के जरिए दी है. केजरीवाल ने बताया है कि बीते 3 साल से दीवाली के समय दिल्ली के प्रदूषण (Pollution) की खतरनाक स्थिति को देखते हुए पिछले साल के जैसे ही इस बार भी हर प्रकार के पटाखों के भंडारण, बिक्री एवं उपयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया जा रहा है. जिससे लोगों की जिंदगियों की रक्षा की जा सके.

व्यापारियों से की अपील

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया है कि बीते साल व्यापारियों द्वारा पटाखों के भंडारण के बाद बढ़ते प्रदूषण की गंभीरता को देखते हुए देर से पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया, जिसकी वजह से व्यापारियों के भारी नुकसान हो गया था. सभी व्यापारियों से ये अपील है कि इस बार पूर्ण प्रतिबंध को देखते हुए किसी भी तरह का पटाखों का भंडारण न करें.

ज्ञात हों कि दिल्ली में हर साल सर्दियों के समय प्रदूषण (Pollution) का स्तर बहुत अधिक बढ़ जाता है. उसको कम करने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) की तरफ से हर बार अनेकों प्रयास किए जा रहे हैं. तो वहीं, आने वाली सर्दियों से पहले केजरीवाल सरकार ने एक बार फिर से इस समस्या से निपटने के लिए कई बड़ी योजनाओं पर तेजी से काम करना चालू कर दिया है.

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने विंटर एक्शन प्लान को लेकर सभी जुड़े विभागों के साथ 14 सितंबर को संयुक्त बैठक हुई थी. इस बैठक में हर विभाग के विंटर एक्शन प्लान को बनाने से लेकर हर जिम्मेदारी सौंपी गयी थी. इस बैठक में तीनों एमसीडी, एनडीएमसी, कैंटोनमेंट बोर्ड, डीडीए, सीपीडब्ल्यूडी, पीडब्ल्यूडी के साथ-साथ ट्रैफिक पुलिस, ट्रांसपोर्ट विभाग, पर्यावरण विभाग, विकास विभाग के सभी उच्च अधिकारी उपस्थित रहे थे.

विंटर एक्शन प्लान का होगा निर्माण

बैठक पूरी होने के बाद गोपाल राय ने कहा था कि, ‘बैठक का मकसद दिल्ली के अंदर प्रदूषण के खिलाफ इस जंग में संयुक्त कार्य योजना का निर्माण करना है. हमने अलग-अलग विभागों के लिए विशिष्ट कार्य दिए हैं. जिस पर सभी विभागों को 21 सितंबर तक अपना एक्शन प्लान बना कर पर्यावरण विभाग को सौंपना है. जिसके अनुरूप हम सरकार का विंटर एक्शन प्लान तैयार करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *