Breaking News

इस अरबपति के घर को लेकर चौकाने वाला खुलासा, 14 घंटे तक काम, नहीं कर सकते बाथरूम इस्‍तेमाल

दुनिया के चौथे सबसे अमीर इंसान और एमेजॉन (Amezon) के बॉस जेफ बेजोस (Jeff Bezos) को लेकर बड़ा खबर सामने आई है. दरअसल, उनके खिलाफ एक केस दायर (case filed) कराया गया है. बेजोस के घर में काम कर चुकी एक महिला ने अपनी शिकायत में नस्लीय भेदभाव (Racial Discrimination) का आरोप लगाया है. उसने बताया कि घर पर काम करने के दौरान उसे और कुछ अन्य हाउसकीपर्स को बाथरूम इस्तेमाल करने की भी इजाजत नहीं थी.

10 से 14 घंटे करना पड़ता था काम
द गार्डियन और ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, मर्सिडीज वेडा (Mercedes Wedaa) नाम की महिला ने जेफ बेजोस (Jeff Bezos) पर ये गंभीर आरोप लगाए हैं. वेडा ने साल 2019 से बेजोस के घर में काम करना शुरु किया था. उन्होंने बताया कि करीब तीन साल तक काम करते हुए उन्हें नस्लीय भेदभाव का सामना करना पड़ा. उन्हें हर दिन 10 से 14 घंटे तक काम करना पड़ता था और इस बीच न Lunch करने की इजाजत थी और न ही कुछ देर आराम करने की.

घर के बाथरूम में टॉयलेट की इजाजत नहीं
रिपोर्ट की मानें तो याचिकाकर्ता ने अपनी शिकायत में कहा है कि मुझे और हाउसकीपिंग से जुड़े अन्य दूसरे कर्मचारियों (House keeping Staff) को बाथरूम जाने के लिए लॉन्ड्री रूम की खिड़की (Laundry Room Window) खिड़की फांदकर बाहर जाना पड़ता था. क्योंकि घर में काम करते हुए भी हमें अंदर का टॉयलेट इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं थी. इसके अलावा दायर मुकदमे में यह भी कहा गया कि घर में काम करने वालों के लिए कोई रेस्टरूम भी नहीं था, जहां वे काम के बीच आराम कर सकें या फिर आराम से खाना खा सकें. हाउसकीपर्स को कपड़े धोने वाले बाथरूम क्षेत्र में बैठकर खाना खाना पड़ता था.

घर का मैनेजर करता था गाली-गलौच
बेजोस की सिएटल की हवेली में काम करने वाली मर्सिडीज वेडा (Mercedes Wedaa) ने अपनी शिकायत में कहा कि वहां मौजूद जेफ बेजोस का हाउस मैनेजर उनके साथ गुस्सा और गाली-गलौच करता था, जबकि वहां काम करने वाले अन्य श्वेत नस्ल के कर्मचारियों के साथ सम्मान और विनम्रता के साथ पेश आता था. वेडा ने अपनी आपबीती में कहा कि श्वेत कर्मचारियों की तुलना में उन्हें बिना रुके कई घंटे ज्यादा काम करना पड़ता था.

Bezos के वकीलों ने आरोप खारिज किए
जेफ बेजोस पर दायर किए गए केस के बाद उनके वकील इस मामले में उनके बचाव में उतर आए और महिला कर्मचारी के दावे को सिरे से खारिज कर दिया.रिपोर्ट के मुताबिक, वकीलों ने कहा कि मर्सिडीज वेडा की ओर से घर में नस्लीय भेदभाव के लगाए गए आरोप पूरी तरह निराधार और गलत हैं. गौरतलब है कि टॉप-10 अरबपतियों (Top-10 Billionaires) की लिस्ट में जेफ बेजोस को हाल ही में एक स्थान फिसलकर चौथे स्थान पर आ गए हैं. उन्हें दौलत के मामले में भारतीय उद्योगपति गौतम अडानी (Gautam Adani) ने रिप्लेस किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *