Breaking News

इन 5 उपायों से भगवान शिव को करें प्रसन्न, धन में होगी वृद्धि, बाधाओं से मिलेगी मुक्ति!

सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है. इस दिन लोग भोलेनाथ की आराधना करते हैं और शिवलिंग पर दूध या गंगाजल चढ़ाते हैं. ऐसी मान्यता है कि जो लोग सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा करते हैं उनकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं और भगवान शिव भी प्रसन्न हो जाते हैं.

हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का सबसे सर्वोत्तम दिन सोमवार ही माना गया है और जो भक्त सच्चे मन से शिवजी की सेवा करते हैं उन्हें धन-धान्य की कोई कमी नहीं होती और न ही तरक्की के रास्ते में कोई रुकावट आती है.somvar upay hindiअगर आप भी भगवान शिव को प्रसन्न करना चाहते हैं और उनका आशीर्वाद चाहते हैं तो सोमवार को यह 5 उपाय जरूर करें. इनको करने से आपको न तो कभी धन की कमी होगी और न ही कोई बाधा आपके निकट आएगी.

इन 5 उपायों से भगवान शिव को करें प्रसन्न

1. सोमवार का दिन भोलेनाथ और चंद्रमा का दिन माना जाता है. इस दिन आप प्रातः स्नान कर साफ-स्वच्छ वस्त्र पहनकर सबसे पहले शिव जी के दर्शन करें और चालीसा या शिवाष्टक का पाठ करें. ऐसा करने से भगवान शिव भक्तों से प्रसन्न होते हैं और इससे घर में बरकत बनी रहती है.

2. अगर संभव हो तो सोमवार के दिन सुबह-सुबह शिवजी के मंदिर जाएं और गौरी शंकर रुद्राक्ष चढ़ाएं. ऐसा करने से दांप्तय जीवन या विवाह में आ रही परेशानियां दूर होती हैं. साथ ही भोलेनाथ के आशीर्वाद से धन-धान्य की कमी नहीं होती.

3. सोमवार के दिन प्रातः स्नान करने के बाद बेलपत्र पर सफेद चंदन लगाए और फिर मन में मनोरथ बोलकर शिवलिंग पर उस बेलपत्र को चढ़ा दें. ऐसा करने से आपकी मनोकामना भी पूरी होगी और मां लक्ष्मी की कृपा घर-परिवार पर बनी रहेगी.

4. शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर दूध अर्पित करें. तांबे के बर्तन में दूध को लेकर उसे अपने काम वाली जगह पर पूरी श्रद्धा व भगवान शिव का ध्यान करते हुए ओम नमः शिवाय: का जाप करते हुए छिड़के. ऐसा करने से व्यापार व काम में आ रही बाधा दूर होगी और घर-परिवार में सुखशांति बनी रहेगी.

5. सोमवार के दिन स्नान आदि कर प्रातः शिव मंदिर में जाएं और रुद्राक्ष की माला से ‘ऊं नमो धनदाय स्वाहा’ मंत्र का 11 बार जाप करें. इस उपाय को पूरी श्रद्धा के साथ करने से धन में वृद्धि होती है और करियर संबंधी दिक्कतों से छुटकारा मिलने लगता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *