Wednesday , September 28 2022
Breaking News

आम आदमी पार्टी के विधायकों को खरीदने के आरोपों पर भारतीय जनता पार्टी ने भी गंभीर रुख किया अख्तियार

आम आदमी पार्टी के विधायकों को खरीदने के आरोपों पर भारतीय जनता पार्टी ने भी गंभीर रुख अख्तियार कर लिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा भाजपा पर आम आदमी पार्टी के विधायकों को खरीदने के लगाए गए आरोप की जांच की मांग की गई है। भाजपा सांसदों ने दिल्ली के उपराज्यपाल को पत्र लिखकर जांच कराने की मांग की है।

पूर्व दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बुधवार को पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि दिल्ली की नई आबकारी नीति में घोटाले पर आम आदमी पार्टी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बार-बार बयान बदल रहा है। पहले इसे राजस्व बढ़ाने वाला कदम बताया गया।

सीबीआइ को जांच सौंपे जाने पर इस नीति को वापस ले लिया। उन्होंने बताया कि दिल्ली के सभी सांसदों ने उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना का पत्र लिखकर आम आदमी पार्टी के आरोपों की जांच की मांग की है।

भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि सीबीआइ की जांच आगे बढ़ने पर कहा कि उपराज्यपाल ने इसे लागू किया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर सीबीआइ का छापा पड़ने पर कहा कि मनीष सिसोदिया के सामने भाजपा में शामिल होकर केजरीवाल सरकार को गिराने का प्रस्ताव रखा गया। फिर कहा गया कि आप विधायकों को खरीदने की कोशिश हो रही है।

मनीष सिसोदिया और आप विधायकों को किसने फोन किया उसका नाम सार्वजनिक होना चाहिए। उपराज्यपाल को पत्र लिखकर इसकी जांच कराने की मांग की गई है जिससे कि अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी की सच्चाई सामने आ सके।

वहीं, सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि रिश्वत लेना और देना दोनों अपराध है, इसलिए AAP विधायकों को पैसे देने के लिए फोन करने वालों का नाम सामने आना चाहिए। वहीं, संसद प्रवेश वर्मा ने कहा आरोप लगाकर भाग जाना अरविंद केजरीवाल और उनके साथियों की पुरानी आदत है।

इससे पहले मंगलवार को पूर्व दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व सांसद मनोज तिवारी ने कहा था कि आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के भ्रष्टाचार सामने आ रहे हैं। दिल्ली के लोगों को ऐसा प्रतीत होने लगा है कि आप सरकार में न तो सरकारी खजाना सुरक्षित है और न स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे। शराब घोटाले की जांच चल रही है, जिससे कि भ्रष्टाचारियों को सजा मिले। भ्रष्टाचारियों को उनके पद से हटाने की लड़ाई चल रही है। इसी बीच शिक्षा विभाग में भी बड़ा घोटाला सामने आ गया है।

प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा था कि नांगलोई स्थित दिल्ली सरकार के स्कूल में पंखा गिरने से एक बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गई। वह अस्पताल में भर्ती है। पहले भी इस तरह की घटनाएं हो चुकी है। लगभग चार सौ स्कूलों की इमारतें असुरक्षित हैं। स्कूलों में कमरों के निर्माण में गड़बड़ी की शिकायत पर लोकायुक्त ने मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी है। इस मामले में शिकायत करने के कारण उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा मेरे ऊपर मानहानि का केस किया गया। लेकिन, इससे वह भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज नहीं दबा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *