Breaking News

आफताब का नार्को टेस्ट आज मुश्किल, अभी पॉलीग्राफ टेस्ट में पूछे जाने बाकी हैं 70 सवाल

राजधानी दिल्ली के श्रद्धा वालकर हत्याकांड मामले में तिहाड़ जेल में बंद आरोपी आफताब पूनावाला का नार्को टेस्ट कल नहीं हो सकेगा. चूंकि, अभी तक आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट पूरा नहीं हो सका है. इसलिए ये टेस्ट 5 दिसंबर को हो सकता है. क्योंकि अंबेडकर अस्पताल में सोमवार को नार्को टेस्ट कराने का नियम है. वहीं, सूत्रों का कहना है कि, साकेत कोर्ट ने आफताब पूनावाला को 28 और 29 नवंबर और 5 दिसंबर को एफएसएल डॉयरेक्टर के सामने पेश होने का आदेश दिया है.

वहीं, रोहिणी में स्थित फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी ने रविवार को कहा कि श्रद्धा वालकर हत्याकांड मामले में आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का शेष पॉलीग्राफ टेस्ट सोमवार को होगा. जहां अधिकारी का कहना है कि चूंकि ये टेस्ट अभी पूरा नहीं हुआ है, इसलिए नार्को विश्लेषण कुछ और दिन के लिए स्थगित हो सकता है. इस दौरान पॉलीग्राफ टेस्ट के पहले दो चरणों के निष्कर्षों के आधार पर 70 प्रश्न तैयार किए गए हैं. उम्मीद जताई जा रही है, जिससे उससे पूरी जानकारी मिल सकें.

जानिए क्या है मामला?

बता दें कि, आफताब पूनावाला ने वालकर (27) की कथित तौर गला घोंटकर हत्या कर दी थी.आफताब ने इसके बाद श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए. उसने टुकड़ों को रखने के लिए एक 300 लीटर का फ्रिज भी खरीदा था, जिसके बाद उसके शव के टुकड़ों को फ्रिज में रखा था. इसके बाद वह रोजाना रात में शव के टुकड़े को महरौली के जंगल में फेंकने जाता था.

13 दिन की न्यायिक हिरासत में आफताब को भेजा गया जेल

वहीं, इस मामले में पुलिस ने 12 नवंबर को पूनावाला को गिरफ्तार करके पुलिस हिरासत में भेज दिया था. जहां 17 नवंबर को उसकी हिरासत 5 दिन के लिए बढ़ा दी गई, मंगलवार को उसे चार और दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया था. वहीं, शनिवार को दिल्ली की साकेत कोर्ट ने आरोपी आफताब पूनावाला को 13 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

करीब 8 घंटे चला था आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट

हालांकि,इससे पहले, बीते गुरुवार को आफताब का करीब आठ घंटा लंबा पॉलीग्राफ टेस्ट हुआ था. चूंकि, उसकी तबियत ठीक नहीं होने के कारण प्रयोगशाला के अधिकारियों को बयान दर्ज करने में परेशानी हुई. पॉलीग्राफ जांच में बीपी, नब्ज और सांस की दर जैसी शारीरिक गतिविधियों को रिकॉर्ड किया जाता है. इन आंकड़ों का इस्तेमाल यह पता लगाने में किया जाता है कि व्यक्ति सच बोल रहा है या नहीं.

इस्तेमाल किए गए हथियार का नहीं चल पाया पता

दिल्ली पुलिस ने पूनावाला के फ्लैट से पांच चाकू जब्त किए थे और उन्हें अपराध में इस्तेमाल किए जाने का पता लगाने के लिए एफएसएल भेजा था. पुलिस ने पहले कहा था कि कथित तौर पर पूनावाला ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर के शव को काटने के लिए जिस आरी का इस्तेमाल किया था, वह अभी बरामद नहीं हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *