Breaking News

आजादी के 100वीं वर्षगाँठ पर दिव्य दिखेगी अयोध्या, दीपोत्सव पर होगा प्रजेंटेशन

राम नगरी में पांचवें भव्य दीपोत्सव का आयोजन भी किया जा रहा है। इस दौरान 25 हजार करोड़ के योजनाओं से अयोध्या को वैदिक नगरी के रूप में विकसित करने के लिए तैयारी हुए विजन डॉक्यूमेंट को अयोध्या के सामने प्रस्तुत किया जाएगा। विजन का डेडलाइन भी 2047 तक रखा गया है। जब देश के आजादी का 100 वर्ष पूरे होंगे उस समय अयोध्या विश्व स्तरीय में दिखाई देगा। भगवान श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण के साथ केंद्र व प्रदेश सरकार के द्वारा अयोध्या को स्मार्ट सिटी के साथ वैदिक और हेरिटेज लुक दिए जाने के लिए योजना तैयार की है। विस्तृत जानकारी 3 नवंबर को दीपोत्सव के आयोजन में आए 10,000 अतिथियों को स्क्रीन के माध्यम से दिखाया जाएगा। 30 मिनट के इस प्रेजेंटेशन से शामिल सभी योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। केंद्र सरकार ने इस योजना के लिए 25 हजार करोड़ के लागत की स्वीकृति भी दे चुकी है।

 

इस योजना को तैयार की जाने को लेकर अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष विशाल सिंह ने बताया कि विजन डॉकमेंट तैयार करने के लिए काशी, प्रयाग, मथुरा, उज्जैन व सोमनाथ सहित अन्य कई प्रमुख मंदिरों का अध्ययन किया गया है। इसके साथ ही कंबोडिया से लेकर वेटिकन सिटी तक विकास के बेंचमार्क के पन्ने भी खंगाले गए हैं। इस योजना में अयोध्या में रामायण युग के और पौराणिक महत्त्व वाले कुंडों, मंदिरों को भी संरक्षित किया जाएगा। इसके साथी समरस शहर बनाने के लिए बाल्मीकि रामायण के तहत 88 प्रजातियों के 27000 वृक्ष भी लगाए जाएंगे। अयोध्या को विकसित किए जाने के लिए कई योजनाएं प्रस्तावित है जिसमें श्री राम एयरपोर्ट, ग्रीन फील्ड टाउनशिप ( 1200 एकड़ में नव्य अयोध्या), भव्य प्रवेश द्वार, पर्यटन सुविधा केंद्र, अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय रिवर फ्रंट डेवलपमेंट सहित 325 परियोजनाओं को शामिल किया गया है।

दीपोत्सव के विरोध में अंधेरा करेंगे व्यापारी

राम नगरी में भव्य दीपोत्सव का आयोजन की तैयारी है। 3 नवंबर को राम की पैड़ी पर 9 लाख दीप जलाए जाने के साथ नया विश्व रिकॉर्ड बनेगा लेकिन इस दौरान अयोध्या के व्यापारी 10 मिनट तक अपनी दुकानों के लाइटों को बंद रखेंगे। अयोध्या में सड़क चैड़ीकरण योजना में सैकड़ों दुकान प्रभावित हो रहे हैं जिसके कारण अयोध्या के व्यापारी इस योजना का विरोध कर रहे हैं। श्रीराम नगरी में सड़क चैड़ीकरण योजना के विरोध कर रहे व्यापारियों ने विरोध प्रदर्शन करने का अनोखा तरीका निकाला है। अयोध्या में दीपोत्सव का आयोजन किया जा रहा है लेकिन इस बार अयोध्या के व्यापारी इस दीपोत्सव में भागीदारी नहीं लेंगे।

सरकार की योजना के विरोध में शाम 7 बजे से 7.10 तक दीपोत्सव के दौरान 10 मिनट तक अपने घरों व दुकानों के लाइटों को बंद रखेंगे। इस विरोध प्रदर्शन को लेकर सोशल मीडिया पर व्यापारियों के द्वारा दीपावली न मनाए जाने का वीडियो भी वायरल किया जा रहा है। जिले के व्यापारियों की मानें तो सड़क चैड़ीकरण की योजना से सैकड़ों व्यापारी की रोजी-रोटी समाप्त हो रही है। सरकार ने दुकान के बदले दुकान दिए जाने की बात कही थी लेकिन उनके अधिकारियों द्वारा अभी तक दुकान दिये जाने कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *