Breaking News

आंध्र प्रदेश में जारी जहरीली गैस का तांडव, हादसे में 8 लोगों की मौत, भारी संख्या में अस्पताल में भर्ती हुए लोग

गुरूवार की सुबह अचानक विशाखापट्टनम में एलजी पॉलिमर उद्योग में रासायनिक गैस के लीक होने के बाद गांव के लोगों के बीच भगदड़ मच गई. ये गैस इतनी खतरनाक है, कि जिसे भी अपनी चपेट में ले रही है, उसे या तो मारकर छोड़ रही है या फिर बीमार कर छोड़ रही है. इस गैस का शिकार होने के बाद जहां 8 लोगों की मौत हो चुकी है, तो वहीं करीब 800 से ज्यादा लोग इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराए गए हैं. एडमिट कराए गए लोगों में किसी को उल्टी हो रही है, किसी को गले में दर्द हो रहा है, या फिर किसी को सांस लेने में दिक्कतें आ रही हैं. इस भयावह मंजर को देखने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनडीएमए की आपात एक बैठक बुलाई है, जिसमें गृहमंत्री अमित शाह और राजनाथ सिंह भी शामिल हुए हैं. हालांकि इसके साथ ही आपको बता दें कि गैस जहां से लीक हो रही थी, उस पर काबू पा लिया गया है.

आपको बता दें कि इस जहरीली गैस का शिकार होने के बाद जो लोग अस्पताल में एडमिट हैं, उनसे मिलने के लिए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी निकल चुके हैं. फिलहाल ये मंजर इतना भयावह है कि गांव के लोगों में भागदौड़ का माहौल है. इस बीच फैक्ट्री के आसपास करीब 5 गांवो को पूरा तरह से रेस्क्यू कर लिया गया है. बैठ के बारे में पीएम मोदी का कहना है कि उन्होंने इस हादसे के बारे में गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के अधिकारियों से बात की है, साथ ही इस मामले पर कड़ी निगरानी की जा रही है. इसके साथ पीएम ने ये भी कहा है कि मैं विशाखापट्टनम में सभी की सुरक्षा और भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं.

गैस लीक पर अमित शाह का बयान
पीएम के अलावा देश के केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का इस घटना पर कहना है कि इस संकट समय में विजग में हुई गैस लीक का मामला वाकई काफी परेशान करने वाला है. फिलहाल इस घटना पर हम करीब से अपनी नजर बनाए हुए हैं और जांच भी कर रहे हैं. मैं विशाखापट्टनम के लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस गैस की घटना पर आंध्र प्रदेश के डीजीपी का भी बयान आया है. जिसमें उन्होंने कहा है कि, अब तक इस जहरीली गैस के कारण 8 लोगों की मौत हो चुकी है. जिसमें एक व्यक्ति मौत से भागने की कोशिश करते हुए खुद ही कुएं में गिर गया, इसके कारण उसकी मौत हो गई. फिलहाल अभी भी लोगों के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है, और लगातार गांव के लोगों को सुरक्षित बचाने की कोशिश की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *