Breaking News

अस्पताल में जन्म लेते ही बच्चे को 10 मिनट में दो महिला चोर लेकर भागीं, CCTV में दिखा नजारा

झारखंड के धनबाद (Dhanbad) में दिनदहाड़े एक सरकारी हॉस्पिटल (Government Hospital) से बच्चा चोरी हो गया। इस बात की प्रबंधन को जरा सी भी भनक तक नहीं लगी। सबसे बड़े हॉस्पिटल (SNMCH) शहीद निर्मल महतो मेमोरियल मेडिकल कॉलेज की सुरक्षा पर सवाल खड़े हो गए हैं। यहां बुधवार दोपहर में एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया और 10 मिनट बाद ही दो महिलाएं उसे चुराकर फरार हो गईं। पीड़ित परिजन ने इसकी शिकायत हॉस्पिटल प्रबंधन से की। फिर जब सीसीटीवी (CCTV) को खंगाला गया तो दो महिलाएं बच्चे को लेकर भागती दिखाई दीं। पुलिस सीसीटीवी में दिख रही महिलाओं की तलाश में जुट गई है।

जानकारी के अनुसार, भूली की रहने वाली गुड़िया देवी ने एक बेटे को जन्म दिया था। उसने अभी ठीक से अपने बेटे को देखा भी नहीं था कि उसको किसी ने चोरी कर लिया। जिसके बाद इससे महिला हालत काफी ख़राब हो गई। सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहा है कि एक महिला नवजात बच्चे को गोद में लेकर हॉस्पिटल से बाहर निकल रही है।

बच्चे की मां ने की अपील

गुड़िया को मंगलवार को प्रसव के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उसी दिन महिला ने बच्चे को जन्म दिया और कुछ ही घंटों के अंदर एक महिला ने मां से उसके बच्चे से अलग कर दिया। नवजात बच्चे की मां ने चोरी करने वाली महिलाओं से मार्मिक अपील की और बच्चे को वापस लौटाने को कहा।

महिला ने कहा- बच्चा बड़ा प्यारा है और लेकर भाग गई

गुड़िया की सास राधिका देवी ने कहा कि बच्चे के जन्म के बाद दो महिला वार्ड में आईं। जिसमें एक ने कहा कि आपका बच्चा बहुत ही प्यारा है। थोड़ा गोद में खिला लेती हूं। इसके बाद राधिका देवी अपना मोबाइल चार्जर में लगाने लगी, तब तक वह नवजात को लेकर भाग गई।

महिलाएं ले भागी नवजात

प्रसव कक्ष से नर्स ममता कुमारी ने दोपहर में 2.35 बजे गुड़िया और उसके परिजन को नवजात दिया था। लगभग 2.45 बजे के आसपास दो महिलाएं वार्ड में आई। वार्ड में गुड़िया देवी की सास राधिका देवी से बहाने से बच्चे को लेकर भाग गई। कैमरे में नजर आ रहा है कि दो महिला वार्ड में गईं। इसमें एक पीली साड़ी पहने हुए महिला नवजात को लेकर जन औषधि केंद्र के रास्ते ओपीडी की तरफ चली गई। दोनों ने मास्क लगा रखा था। ओपीडी के बाहर पहले से ही एक महिला लाल रंग की साड़ी पहने खड़ी थी। लाल रंग की साड़ी पहने महिला के साथ एक लगभग 7 साल की लड़की भी नजर आ रही है। नवजात को गोद लेकर दोनों अलग-अलग रास्ते से भाग गईं।

रैकी कर रही थी महिलाएं

हॉस्पिटल प्रबंधन के अनुसार महिलाएं नवजात की चोरी के लिए कई घंटे से रैकी कर रही थीं। चोरी होने वाले नवजात से पहले दो और प्रसव हुए। इसमें एक बेटी और एक बेटा था। मगर उनका टारगेट गुड़िया देवी ही बनी। क्योंकि गुड़िया देवी के पास केवल उसकी सास ही थी। इसलिए आसानी से बातों में उलझाकर वारदात को अंजाम दे दिया।

अस्पताल प्रबंधन मामले की जांच कर रहा है। सुरक्षा व्यवस्था बेहतर करेंगे। इसके लिए कई प्रवेश द्वार बंद होंगे। एक प्रवेश द्वार बनाने का प्रस्ताव पुन: भेजा जाएगा। फंड के अभाव में काम पेंडिंग है। मामले में कर्मचारियों का कोई दोष नहीं है।– डॉ. एके वर्णवाल, अधीक्षक, SNMCH।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *