Breaking News

अमेरिका में आधार का हवाला देते हुए लोगों की डिजिटल पहचान स्थापित करने की अनुशंसा

अमेरिकी विशेषज्ञ ने भारत में आधार प्रणाली के अनुभव का हवाला देते हुए सांसदों को सिफारिश की है कि अमेरिका एक ऐसी डिजिटल पहचान प्रणाली तैयार करे जो समावेशी हो और ज्यादातर लोगों के लिए काम करे। नोट्रेडेम विश्वविद्यालय में नोट्रेडेम-आईबीएम टेक्नोलॉजी एथिक्स लैब की संस्थापक निदेशक प्रो एलिजाबेथ रेनेरिस ने कांग्रेस की कृत्रिम बुद्धिमत्ता की उपसमिति की बैठक में यह अनुशंसा की।

अमेरिकी विशेषज्ञ प्रो एलिजाबेथ रेनेरिस ने कहा, हमें एक ऐसी प्रणाली तैयार करने की आवश्यकता है जो वास्तव में समावेशी हो और अधिकांश लोगों के लिए काम करे। सांसदों के सवालों के जवाब में, रेनेरिस ने भारत में आधार प्रणाली के कार्यान्वयन के अनुभव का उल्लेख किया। उन्होंने कहा, हमें इस तरह से डिजिटल आईडी सिस्टम और बुनियादी ढांचे के निर्माण से बचना चाहिए जो सरकारी निगरानी का विस्तार करे, जैसा कि भारत या चीन में राष्ट्रीय पहचान प्रणाली के तहत किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *