Breaking News

अब ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आरटीओ ऑफिस के नहीं लगाने पड़ेंगे चककर, बस करना होगा ये काम

केंद्र सरकार की तरफ से लगातार ड्राइविंग लाइसेंस और इससे जुड़ी हर सेवा को ऑनलाइन बनाने की दिशा में लगातार प्रयास जारी हैं. इन्‍हीं प्रयासों के तहत कई ऐसे उपाय भी पिछले कुछ वर्षों में किए गए हैं. इन्‍हीं का नतीजा है कि ट्रांसपोर्ट अथॉरिटीज की ज्‍यादातर सर्विसेज अब ऑनलाइन हो गई हैं. साथ ही एक हेल्‍प डेस्‍क भी लगातार लोगों की समस्‍याओं का समाधान करने में जुटी है. अब सरकार ने देश के हिस्‍से में स्थित आरटीओ के काम को भी पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया है. ऐसे में लोगों को भी सूहलियत हो गई है और उन्‍हें आरटीओ ऑफिस के चक्‍कर भी नहीं काटने पड़ते हैं. आज आपको बताते हैं कि आपको कौन-कौन से काम के लिए अब आरटीओ ऑफिस जाने की बिल्‍कुल भी जरूरत नहीं पड़ने वाली है.

सारी सर्विसेज बस एक क्लिक पर…

ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट लगातार प्रयास कर रहा है कि लाइसेंस रिन्युअल, डुप्लीकेट लाइसेंस, एड्रेस चेंज और आरसी बनवाने के लिए लोगों को आरटीओ न जाना पड़े. उनका काम घर बैठे ही आसानी से बस एक क्लिक पर ही हो जाए. साथ ही लोगों को बिना किसी मुश्किल ऑनलाइन ये डॉक्यूमेंट्स अपलोड करने की सुविधा मिल सके. इस सिस्‍टम के ऑनलाइन हो जाने के बाद लोगों को बस ड्राइविंग टेस्ट और फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए ही आरटीओ जाना पड़ेगा. सिर्फ इतना ही नहीं अब वीआईपी नंबर के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया भी ऑनलाइन कर दी गई है.

ड्राइविंग लाइसेंस बनाना हुआ और आसान

उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश. राजस्थान, उत्तराखंड, झारखंड जैसे राज्यों ने लर्निंग लाइसेंस और गाड़ियों के रजिस्‍ट्रेशन के लिए नए नियमों को लागू कर दिया है. वहीं, कुछ राज्यों में अब सिर्फ ऑनलाइन ही आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं. धीरे-धीरे यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन ही हो जाएगी. कोरोना वायरस की वजह से लगे लॉकडाउन के बाद और नए साल की शुरुआत के साथ ही ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना भी आसान हो गया है.

वर्तमान समय में देश के लगभग सभी राज्यों के परिवहन विभाग ने लर्निंग लाइसेंस के लिए फीस जमा करने की व्‍यवस्‍था में भी बदलाव कर दिए हैं. अब नई व्यवस्था के तहत स्लॉट बुक होते ही लर्निंग लाइसेंस के लिए पैसे जमा करना पड़ रहा है. पैसे जमा करते ही जांच परीक्षा के लिए तारीख भी अपनी सुविधा के मुताबिक मिल रहा है.

ऑनलाइन अपलोड करें डॉक्‍यूमेंट्स

खासकर लाइसेंस संबंधित सेवाओं के लिए अब परिवहन विभाग के वेबसाइट पर जाकर ड्राइविंग लाइसेंस सेवाओं पर क्लिक करना होगा. आपको फॉर्म भरते समय अपने डीएल नंबर के साथ और भी पर्सनल जानकारियां देनी होंगी. इसके ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित और भी जरूरी डॉक्‍यूमेंट्स को वेबसाइट पर अपलोड करना होगा. आरटीओ ऑफिस में बायोमेट्रिक डिटेल्स की जांच के बाद आपके सभी कागजात को सत्यापित किया जाएगा. इसके बाद आपके लाइसेंस का नवीनीकरण हो जाएगा.

अब नहीं कोई झंझट

देश में नए मोटर वाहन कानून लागू होने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना पहले की तुलना में अब बहुत ही आसान हो गया है. इसके साथ ही आप बिना ड्राइविंग लाइसेंस के अगर गाड़ी चलाते पकड़े गए तो आपको 5 हजार रुपये तक जुर्माना भी वसूला जाएगा. पुराने वाहन कानून में बिना लाइसेंस के आप गाड़ी चलाते पकड़े जाते तो आपको 1000 रुपये ही देना पड़ता था. इसलिए अब आपको इन सारी समस्याओं से ऑनलाइन आवेदन करने मात्र से ही छुटकारा मिल सकता है और आपको आरटीओ दफ्तर के चक्कर काटने नहीं पड़ेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *