Breaking News

अब जनसंख्या में भारी गिरावट से जूझ रहा भारत का यह मित्र देश

दुनिया जनसंख्या नियंत्रित करने के लिए योजनाएं लागू करता है लेकिन कई ऐसे देश हैं जहां जनसंख्या कम होने पर चिंता शुरू होने लगी है। कोरोना काल के बीच रूस की जनसंख्या में भारी गिरावट दर्ज की गई है। गत वर्श रूस की जनसंख्या में लगभग 5 लाख 10 हजार की कमी दर्ज की गई। रूसी संघीय सांख्यिकी ब्यूरो ने इस संबंध में आंकड़े जारी किए हैं। रूसी सांख्यिकी ब्यूरो की वेबसाइट ने 28 जनवरी को जारी प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार 1 जनवरी 2020 की लगभग 14.62 करोड़ आबादी की तुलना में 2020 में रूसी जन संख्या में लगभग 5 लाख 10 हजार गिरावट आई है। इस गिरावट को लेकर चिंता बढ़ गयी है। पिछले 15 वर्षों में रूस की आबादी में यह सबसे अधिक कमी आई है। आखिरी बार 2005 में रूस की जनसंख्या में भारी कमी आई थी जो लगभग 6 लाख की कमी थी। पांच लाख से उपर की कमी होना चिंता है। आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018 और 2019 में रूसी निवासियों की संख्या में प्रति वर्ष लगभग 1 लाख की कमी हुई।

ज्ञात हो कि कोरोना वायरस महामारी के कारण रूस के अलावा दुनिया के और भी कई देश अत्यधिक मृत्यु दर से जूझ रहे हैं। मृत्युदर परेशानी का कारण बन चुका है। अब तक रूस में कुल 71,651 मौतें दर्ज हुई हैं। इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौतों का मुख्य कारण कोविड-19 वायरस बताया जा रहा है। कोविड 19 से पहले एक साल में इतनी अधिक मौतें नहीं हुई थीं।

रूस की सरकार ने दिसंबर के अंत में इस बात को स्वीकार किया था कि देश की मृत्यु दर में तीसरी बार भारी गिरावट दर्ज हुई है। साल 1991 में सोवियत संघ और सोवियत सोशलिस्ट रिपब्लिक के पतन के बाद से रूस की आबादी में लगातार गिरावट जारी है। इसकी मुख्य वजह निम्न जन्म दर है। रूस में जन्मदर कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *