Breaking News

अगर यहां लड़कियों पर ड़ाला रंग तो करनी पड़ेगी शादी

होली(Holi) रंगो का त्यौहार होता है। छोटे से लेकर बड़े सभी लोग इस दिन को धूमधाम से मनाना चाहते है। इस दिन अधिकतर लोग सुबह से ही घर से निकल जाते है और घूम घूम कर अपने दोस्तों और रिश्तेंदारों को रंग में सराबोर कर देते है, लेकिन देश में एक ऐसी जगह भी है जहां पर कोई भी शख्स होली रंगो से नहीं खेलता। वहां पर ऐसा एक परंपरा की वजह से होता है, इस परंपरा का लोग वर्षों से पालन करते आ रहे हैं। जहां की हम बात कर रहे हैं वो जगह है झारखंड के जमशेदपुर जिले की। इस जिले के बहुत से आदिवासी इलाकों में होली खेलना शुरु हो चुका है, लेकिन यहां आपको होली के रंग बिलकुल फीके दिखाई देंगे क्योंकि  यहां रंगों की जगह पानी से होली खेली जाती है।

रंग डाला तो हो जाएगी शादी

इस आदिवासी बहुल इलाके के लोग ये मानते है कि अगर कोई लड़की या लड़का रंग की होली खेल ले या फिर एक दूसरे के ऊपर रंग डाल देता है, तो उनको आपस में शादी करनी पड़ जाती है। इसी कारण इस समाज के लोग होली में रंगो की जगह पानी का प्रयोग करते हैं। वर्षों से इस समुदाय में यह प्रथा चली आ रही है। कई साल बीत गए इस समुदाय के लोगों ने होली में रंगो का प्रयोग नहीं किया।

ऐसे खेलते है होली

इस दिन  यहां ढोल नगाड़े बजाए जाते है। इसी के साथ लड़का-लड़की यहां झूमते-गाते हैं और एक-दूसरे पर पानी डाल कर होली का लुफ्त लेते हैं, लेकिन इस दौरान वो रंगों से दूर रहते हैं। होली से कुछ दिन पहले ही यहां के लोग होली खेलना शुरू कर देते हैं। रात-रात भर एक दूसरो पर यहां पानी डाल कर होली खेली जाती है, इस समय वो सब लोग पारंपरिक वेशभूषा भी पहनते हैं। होली के अवसर पर इस बार भी बाकी सालों की तरह आदिवासियों में खुशी नजर आ रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *