Breaking News

अंधविश्वास का मायाजाल, भगवन को खुश करने माँ ने 6 साल के मासूम बेटे की दी बलि

केरल के पलक्कड़ में एक बेहद चौंकाने वाली घटना घटी है. एक महिला ने ईश्वर को खुश करने के लिए अपने ही बेटे की बलि दे दी. 30 साल की महिला शिक्षक (मदरसा) ने कथित तौर पर अल्लाह को खुश करने के लिए अपने 6 साल के बेटे की कुर्बानी दे दी. गर्भवती महिला ने गला दबाकर अपने मासूम बेटे की हत्या कर दी और खुद पुलिस को इसकी सूचना दी. यह भयावह घटना रविवार को हुई, महिला शाहिदा ने खुद रविवार को तड़के 3 से 4 बजे के बीच पलक्कड़ में इमरजेंसी नंबर 112 पर फोन किया और पुलिस को बताया कि उसने अपने बेटे को अल्लाह को खुश करने के लिए कुर्बान कर दिया है. जब पुलिस आरोपी महिला के घर पहुंची, तो बाथरूम में बच्चे का खून से लथपथ शव पाया.

द न्यूज मिनट की रिपोर्ट के मुताबिक शाहिदा के पति सुलेमान और दो अन्य बच्चे बेडरूम में सो रहे थे, जबकि तीसरा और सबसे छोटा बेटा महिला के साथ सो रहा था. इस बीच, शाहिदा ने अपने बेटे को जगाया और वॉशरूम में ले गई और मारने से पहले उसके पैर बांध दिए. सुलेमान पलक्कड़ में एक ऑटो-रिक्शा चालक के रूप में काम करते हैं. पुलिस ने जो एफआईआर दर्ज की है उसके मुताबिक कहा गया है कि महिला ने खुद बताया कि अल्लाह को खुश करने के लिए उसने अपने बेटे की कुर्बानी दे दी. पलक्कड़ के एसपी आर विश्वनाथ ने कहा कि हम पूरी जांच के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंच सकते हैं. शाहिदा पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस बीच, कुछ पड़ोसियों ने दावा किया कि उसने एक दिन पहले स्थानीय पुलिस स्टेशन का फोन नंबर लिया था. बता दें करीब दो हफ्ते पहले ही अंधविश्वास के चक्कर में पड़कर आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में दो युवा बहनों की कथित तौर पर उनके उच्च-शिक्षित माता-पिता द्वारा हत्या कर दी गई थी. आरोपी माता-पिता ने पुलिस को बताया था कि उन्हें विश्वास था कि एक दिन बाद उनकी बेटियां वापस आ जाएंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *