Breaking News

वन विभाग ने आंख मूंदकर जारी किया परमिट, हरियाली पर जमकर चला आरा

रिपोर्ट :भक्तिमान पांडेय रामसनेही घाट बाराबंकी:  विगत दिनों बाराबंकी भले ही पेड़ लगाने में अवार्ड के लिए नामित हुआ हो लेकिन वहीं शनिवार को प्रतिबन्धित पेड़ो पर वन विभाग के रहमो करम से व खाऊ कमाऊ नीति के चलते हरियाली पर जमकर आरा चला है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना असंद्रा क्षेत्र में शनिवार को जमकर प्रतिबंधित पेड़ काटे गए इस कटान में सबसे बड़ा योगदान वन विभाग का रहा क्षेत्र के पूरे समधी खेवराजपुर, लकड़ियां बाबा का पुरवा इमामगंज रतौली में हरियाली के रक्षक ही हरियाली को नष्ट कराने में हर प्रकार से सहयोग करते आ रहे हैं और शनिवार को भी दुधारू हरे भरे पेड़ कटवा डाले आए दिन समाचार पत्रों के माध्यम से हमें ज्ञात होता है कि रात के अंधेरे में, दिन दहाड़े वन माफियाओं द्वारा प्रतिबंधित पेड़ों पर आरा चला दिया जाता है,

इतना ही नही जनपद की आरामशीनों पर रात के अंधेरें में चोरी से लकड़ी गिरती है व अंधेरें में ही चिरान हो जाती है इतना ही नही आरामशीनों व वन अधिकारियों की मिलीभगत से दिन प्रतिदिन आरामशीनों का बोलबाला हो रहा है लेकिन क्षेत्र में बैठे अधिकारी कर्मचारियों के कानों में जूं तक नही रेंगती है। आरामशीनों पर छापा मारनें की अधिकारी भी जहमत नही उठा रहे हैं। कुर्सी पर बैठे बैठे सिर्फ सरकारी धन का दुरपयोग कर रहे हैं यह कोई एक दिन का मामला नही है आए दिन यही होता आ रहा है। रामसनेहीघाट वन क्षेत्र में एक वन कर्मचारी के रहमो करम से सिर्फ पैसा फेंक तमाशा देख वाला हाल बन गया है।जिससे वन माफियाओं के हौंसले दिन प्रतिदिन बढ़ते चले जा रहे हैं।

जब कोई जिम्मेदार अगर अधिकारियों को अवगत भी कराता है तो लकड़कट्ट वन माफिया बड़ी आसानी से परमिट का खेल खेल जाते हैं कटवाते दर्जनों पेंड़ हैं एक या दो पेंडों का जुर्माना करा लेते हैं माल काट रहे अधिकारियों को भी कार्यवाही करने में शर्म आने लगती है। वहीं जब जिला वन अधिकारी से दूरभाष के माध्यम से बात करने की कोशिश की गई तो उनका फोन नहीं उठा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *