Breaking News

PM मोदी ने हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में हुए अग्निकांड पर जताया दु:ख…किया ये ट्वीट

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में हुआ अग्निकांड अत्यंत दुखद है। ऐतिहासिक मलाणा गांव में हुई इस त्रासदी के सभी पीड़ित परिवारों के प्रति मैं अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव के काम में पूरी तत्परता से जुटे हैं। Also Read – हिमाचल प्रदेश के मलाणा गांव में लगी भीषण आग में जले 16 घर, प्रशासन ने पीड़ित परिवारो को बांटी राहत सामग्री

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कुल्लू (Kulu) जिले में विश्व का सबसे पुराना लोकतंत्र (Democracy) मलाणा गांव बुधवार तड़के आग की चपेट में आ गया. कुल्लू में बसे गांव में 12 से 15 मकानों के जल जाने और एक व्यक्ति के घायल होने की सूचना है. वहीं, दमकल विभाग के अधिकारियों के अनुसार आग पर काबू पा लिया गया है. मलाणा पंचायत के प्रधान राजू राम ने दावा किया है कि भीषण अग्निकांड में मलाणा में 25 से 30 घर जलकर राख हुए हैं. हालांकि पुलिस के अनुसार किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं है.

दरअसल, जानकारी के अनुसार, ये घटना मलाणा गांव में बुधवार सुबह तड़के लगभग 3.30 बजे आग लगने से अफरा-तफरी मच गई. वहीं, आग ने भयानक रूप धारण करते ही कई घरों को अपनी चपेट में ले लिया. जहां स्थानीय लोगों ने रात भर मकानों को आग से बचाने का प्रयास किया. अधिकारियों के अनुसार आग की इस घटना में करोड़ों का नुकसान हुआ है.गांव में आग बुझाने के लिए ग्रामीणों के पास नहीं पर्याप्त पानी की व्यवस्था नहीं थी और मकानों में रखे लकड़ी और घास से आग ज्यादा फैली है. सड़क सुविधा ना होने से गांव तक दमकल विभाग की गाड़ी भी नहीं पहुंच पाई है. प्रशासन ने रात को होमगार्ड के दर्जनों जवानों की टीम घटना स्थल पर भेजी गई थी.

भीषण आग के चलते 12 से 15 घर जलकर हुए राख

बता दें कि हिमाचल प्रदेश स्टेट एमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर ने बताया कि 12 से 15 घर जलकर पूरी तरह राख हो गए और एक व्यक्ति घायल भी हो गया. फिलहाल स्थानीय जिला प्रशासन द्वारा पीड़ित परिवारों को राहत सामग्री बांटी गई है. वहीं, इसे पहले भी मलाणा में करीब 100 घर जलकर राख हुए हैं. आग लगने की घटना के बाद जिला प्रशासन की एक टीम मौके के लिए भेजी गई है. अधिकारियों के अनुसार आग लगने के सही कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. वहीं, डीसी कुल्लू आशुतोष गर्ग ने बताया कि आग से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है.

आग के कारणों का नहीं हुआ खुलासा

गौरतलब है कि मलाणा में लगी आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है. आधी रात को आग लगी है. लकड़ी के मकान होने के चलते आग ज्यादा भड़की है. वहीं, अग्निकांड में किसी तरह का कोई जानी नुकसान नहीं हुआ है. मलाणा गांव सैलानियों के बीच खूब मशहूर है. दुनियाभर से लोग यहां घूमने के लिए आते हैं. हालांकि, मलाणा तक पहुंचना बहुत ही मुश्किल है. यहां के लिए कोई स़ड़क मार्ग नहीं है. बर्फ से ढके पहाड़ों से घिरा मलाणा गांव कुल्लू शहर से 45 किमी की दूरी पर स्थित है। इसकी निकटतम सड़क 2007 में बनी पहाड़ी से सात किमी नीचे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *