Breaking News

Cyclone ‘Bomb’ ने मचाई तबाही, 10 लाख घरों की बिजली गुल- 5000 से ज्यादा उड़ानें रद्द

अमेरिका में इस साल भीषण ठंड और बर्फबारी का कहर देखने को मिल रहा है। साइक्लोन बॉम्ब की वजह से 10 लाख से अधिक अमेरिकियों के घरों की बिजली गुल हो गई, जिस वजह से उन्हें शुक्रवार का पूरा दिन अंधेरे में रहना पड़ा।

दरअसल सर्दियों के बर्फीली तूफान ने देश को घेर लिया है। जिसने राजमार्गों को बंद कर दिया, उड़ानें बंद कर दीं और ये खतरनाक मौसम क्रिसमस यात्रियों के लिए भी परेशानी का सबब बन गया। सर्दियों के तूफान बम चक्रवात ने अमेरिका में तबाही मचा दी है। भारी हिमपात में हवा इतनी ठंडी है कि तुरंत उबलते पानी को बर्फ में बदल देता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अमेरिका की 70 फीसदी आबादी मौसम की चेतावनी के दायरे में है।

करीब 5000 से ज्यादा फ्लाइट्स कैंसिल करनी पड़ी हैं। क्रिसमस के मौके पर यात्रा करने वाले लाखों लोगों की मुश्किलें बहुत बढ़ गईं हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में भारी हिमपात, गरजती तेज हवाओं ने देश के दक्षिणी राज्यों सहित अधिकांश हिस्सों को अपनी चपेट में ले लिया है।

अमेरिका की राष्ट्रीय मौसम सेवा के मुताबिक 20 करोड़ से अधिक अमेरिकी लोग इस तूफानी मौसम की चपेट में हैं, क्योंकि बर्फीली हवा ने तापमान को गिराकर ठंड को -55 फ़ारेनहाइट (-48 सेल्सियस) से कम पर पहुंचा दिया है। भीषण ठंड से सबसे ज्यादा परेशानी बेघर प्रवासियों को हो रही है। टेक्सास में मेक्सिको से आए प्रवासियों ने चर्चों, स्कूलों और नागरिक केंद्रों में शरण लेने की कोशिश की जिससे वहां भारी भीड़ जमा हो गई। स्वयंसेवी संस्थाएं लोगों को कोट, टोपी, दस्ताने, थर्मल अंडरवियर, कंबल और स्लीपिंग बैग आदि सामान बांट रही हैं।

उत्तर और दक्षिण डकोटा, ओक्लाहोमा, आयोवा और अन्य जगहों पर परिवहन विभाग ने लगभग शून्य दृश्यता, बर्फ से ढकी सड़कों और बर्फीले तूफान को देखते हुए लोगों को घर पर रहने का आग्रह किया। न्यूयॉर्क की गवर्नर कैथी होचुल ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि यह एक राज्यव्यापी खतरा है। सड़कें आइस स्केटिंग रिंग की तरह हो रही हैं और आपके टायर इस पर संभल नहीं सकते, जबकि फ्लाइट ट्रैकिंग वेबसाइट फ्लाइटअवेयर के मुताबिक न्यूयॉर्क, सिएटल और शिकागो में कई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लगभग 5,000 अमेरिकी उड़ानें शुक्रवार को रद्द कर दी गईं और अन्य 7,600 लेट हो गईं। टोरंटो में मौसम विज्ञानी केल्सी मैकवेन ने ट्वीट किया कि एरी झील में 26 फीट (आठ मीटर) तक की लहरें उठीं, जबकि ओहियो के फेयरपोर्ट हार्बर में 74 मील (120 किलोमीटर) प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *