Breaking News

CM केजरीवाल का केंद्र से सवाल- जब पिज्जा-बर्गर की होम डिलीवरी हो सकती है तो राशन की क्यों नहीं?

राजधानी दिल्ली में 72 लाख परिवारों को लाभान्वित करने वाली घर-घर राशन योजना पर केंद्र द्वारा एक बार फिर रोक लगाए जाने से दिल्ली सरकार ने ऐतराज जताया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि देश 75 साल से राशन माफिया के चंगुल में है और गरीबों के लिए कागज़ों पर राशन जारी होता है। केजरीवाल ने कहा, ’17 साल पहले मैंने इस माफिया के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई थी, हम पर 7 बार ख़तरनाक हमले हुए। मैंने क़सम खाई थी कि कभी ना कभी इस सिस्टम को ठीक ज़रुर करूंगा।’

70 लाख गरीबों का क्या होगा
CM अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘अगले हफ्ते से घर-घर राशन पहुंचाने का काम शुरू होने वाला था। सारी तैयारी हो गई थी और अचानक आपने 2 दिन पहले इसे क्यों रोक दिया? ये कह के इसे खारिज किया गया है कि हमने केंद्र सरकार से इसकी मंजूरी नहीं ली। ये गलत है। हमने एक बार नहीं 5 बार आपकी मंजूरी ली है। कानूनन किसी मंजूरी की जरूरत नहीं है। राशन की होम डिलिवरी क्यों नहीं होनी चाहिए? आप राशन माफिया के साथ खड़े होंगे तो गरीबों के साथ कौन खड़ा होगा? उन 70 लाख गरीबों का क्या होगा जिनका राशन ये राशन माफिया चोरी कर लेते हैं।’

 

उन्होंने कहा, मेरा घर-घर राशन योजना लागू करवाने का एक ही मक़सद है। किसी भी तरह गरीबों को पूरा राशन उनके घर पर मिल जाए। प्रधानमंत्री जी, कृपया मुझे ये लागू करने दीजिए,सारा क्रेडिट आपका। मैं सारी दुनिया से कहूँगा कि ये योजना मोदी जी ने लागू की है। हमारी स्कीम ये कह कर ख़ारिज कर दी गई कि हमने केंद्र सरकार से इसकी मंजूरी नहीं ली। अगर इस देश में पिज्जा, बर्गर, स्मार्टफोन, कपड़ों की होम डिलीवरी हो सकती है तो गरीबों के घरों में राशन की होम डिलीवरी क्यों नहीं होनी चाहिए? सारा देश जानना चाहता है कि केंद्र सरकार ने ये स्कीम खारिज क्यों की?
दिल्ली में कोरोना संक्रमण दर में लगातार कमी
राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के नये मामलों की संख्या में रविवार को भी गिरावट जारी रही और पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के केवल 381 नये मामले सामने आये तथा 34 और मरीजों की इस महामारी से मौत हुई। राजधानी में कोरोना के 381 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 14,29,244 हो गयी जबकि मृतकों की संख्या 24,591 हो गई।

दिल्ली में पिछले 24 घंटों के आधार पर संक्रमण दर घट कर 0.50 फीसदी रह गयी। इस दौरान 76,857 लोगों की कोरोना जांच की गयी जिनमें 76,476 संक्रमित नहीं पाये गये। शनिवार को संक्रमण दर 0.53 फीसदी रही थी। दिल्ली में अब तक 1.97 करोड़ लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। इस अवधि में मृत्यु दर 1.72 फीसदी रही।

पिछले 24 घंटों के दौरान राजधानी में 76,857 नमूनों का परीक्षण किया गया जिसमें से 55,786 आरटीपीसीआर और 21,071 लोगों को रैपिड एंटीजन टेस्ट किया गया है। स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में इस दौरान 1,189 और मरीज स्वस्थ हुए जिसके बाद संक्रमणमुक्त लोगों की संख्या बढ़कर 13,98,764 हो गयी है। फिलहाल राजधानी में 2,327 कोरोना मरीज होम आइसोलेशन हैं। सक्रिय मामलों की मौजूदा संख्या घटकर 5,889 रह गयी है। दिल्ली में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या घटकर 11,557 रह गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *