Breaking News

सूरज ढलने के बाद न करें ये चार काम, स्वास्थ्य के साथ होती है धन हानि, मां लक्ष्मी हो जाती हैं रूष्ट

सूर्यदेव को हिंदू धर्म में जीवन प्रदाता माना जाता है. सूर्य देव एक ऐसे देव हैं जो प्रत्यक्ष रूप से पूरे संसार को अपने दर्शन देते हैं. सूर्योदय और सूर्यास्त के समय को दिन-रात की संधि की तरह देखा जाता है. शास्त्रों में भी सूर्यदेव का विशेष उल्लेख किया गया है. ऐसा माना जाता है कि, सूर्यदेव की आराधना करने से व्यक्ति को समाज में मान-प्रतिष्ठा मिलती है और सूर्यदेव प्रसन्न होकर अपना आशीर्वाद देते हैं. लेकिन कुछ ऐसे काम होते हैं जिन्हें सूर्यास्त के बाद करने से सूर्यदेव ही नहीं बल्कि मां लक्ष्मी भी रुष्ट हो सकती हैं और व्यक्ति को धन-हानि का सामना करना पड़ सकता है. माना गया है कि, इन कामों को अगर कोई व्यक्ति सूर्यास्त के बाद करता है तो उससे घर में दरिद्रता और नकारात्मकता बढ़ने लगती है. तो आइए जानते हैं कि किन कामों को करने से धन हानि का सामना करना पड़ सकता है.

सूर्यास्त के बाद न करें ये काम

तुलसी का पौधा
जो लोग सनातन धर्म को मानते हैं उनके घरों में तुलसी का पौधा अवश्य लगा होता है और जिस घर में नियमित रूप से तुलसी के पौधे की पूजा की जाती है, वहां मां लक्ष्मी का वास होता है और घर-परिवार में खुशहाली रहती है. लेकिन भूल से भी सूर्यास्त के बाद तुलसी में जल नहीं देना चाहिए और न इसे छूना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि शाम के समय तुलसी को छूने से मां लक्ष्मी नाराज हो सकती हैं.

सूर्यास्त के समय सोना
हिंदू धर्मग्रंथों में सूर्यास्त के समय सोना अशुभ माना गया है. सूर्यास्त के समय जब दोनों बेला मिलती हैं तब उस समय किया हुआ भोजन और नींद स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है. इसलिए शाम के समय भूल से भी सोना नहीं चाहिए. ऐसा करने से स्वास्थ्य के साथ-साथ धन हानि का सामना करना पड़ सकता है.

झाड़ू
सुबह के समय हर घर में साफ-सफाई होती है लेकिन सूर्यास्त के बाद बुहारी करना बेहद अशुभ होता है. दरअसल, झाड़ू को देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना गया है और अगर सूर्यास्त के बाद घर में झाड़ू लगाई जाती है तो इससे घर की सुख-शांति का नाश होता है और दरिद्रता वास करने लगती है. इसलिए शाम के समय न तो झाड़ू को छुएं और न लगाएं. बल्कि सूरज ढलने से पहले ही साफ-सफाई वाले काम निपटा दें.

रात को बाल संवारना
सूर्यास्त के समय या सूरज ढलने के बाद कभी बाल न कटवाएं और न शेव कराएं. सूर्यास्त के बाद महिलाओं को बाल भी नहीं संवारने चाहिए. ऐसा माना जाता है कि, अगर सूरज ढलने के बाद बाल संवारे जाते हैं तो इससे नकारात्मक शक्तियां हावी होने लगती हैं. महिलाओं को सोते वक्त बाल बांधकर सोने की सलाह दी जाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *