Breaking News

श्रद्धा हत्याकांड: साक्षी महाराज बोले- ‘ये तब हो रहा जब केंद्र में मोदी की सरकार…

श्रद्धा और निधि गुप्ता हत्याकांड को लेकर पूरे देश में उबाल है। इस पर उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण हैं। सांसद ने कहा कि ये घटनाएं तब हो रही हैं जब केंद्र में मोदी की सरकार है। लोगों में सरकार का भय होना चाहिए। मुझे लगता है कि हत्यारों को ऐसी सजा मिलनी चाहिए कि फिर कोई ऐसी वारदात को अंजाम देने की हिम्मत भी न जुटा सके।
साक्षी महाराज ने कहा कि श्रद्धा के 35 टुकड़े हुए, अगर किसी अन्य धर्म की महिला के साथ ऐसा हुआ होता तो दुनिया के सैकड़ों देश उसके समर्थन में खड़े हो जाते। वहीं विपक्ष पर बरसते हुए साक्षी महाराज ने कहा कि इस घटना के बाद सबको सांप सूंघ गया है। तथाकथित सेक्युलरिस्ट राहुल गांधी, ममता बनर्जी, अखिलेश यादव और केजरीवाल इस मामले में मौन हैं। उन्होंने कहा कि मैं हिंदू बेटियों से ये कहना चाहता हूं कि वो ये न सोचें कि हमारा वाला तो अब्दुल है, वो कभी आफताब नहीं हो सकता है, जो अपने मां-बाप के नहीं हुए वो हमारे नहीं हो सकते। इसलिए बेटियों को सावधान रहने की जरूरत है।
क्या है निधि गुप्ता हत्याकांड?
गौरतलब है कि दुबग्गा की डूडा कॉलोनी में 19 वर्षीय निधि गुप्ता परिवार के साथ रहती थी। हाईस्कूल पास निधि ब्यूटी पार्लर में काम सीख रही थी। उसके पास के ब्लॉक नंबर 40 में रहने वाले सूफियान नाम के युवक से प्रेम संबंध थे। पुलिस के अनुसार कुछ दिन पहले आरोपी युवक ने युवती को मोबाइल फोन दिया था। इस बात का पता घरवालों को मंगलवार को चला तो वो लोग सूफियान के घर शिकायत करने पहुंचे लेकिन दोनों परिवारों में काफी कहासुनी हुई। इसी बीच युवती छत पर चली गई और उसके पीछे सूफियान भी पहुंच गया। मृतक निधि के घरवालों का आरोप है कि सूफियान ने ही युवती को छत से नीचें फेंक दिया। युवती के घरवालों के अनुसार सूफियान उसका धर्म परिवर्तन कराना चाहता था।
पढ़ें श्रद्धा हत्याकांड…
बता दें कि दिल्ली के महरौली इलाके में एक वीभत्स घटना में एक व्यक्ति ने अपनी सहजीवन साथी श्रद्धा वॉल्कर (लिव-इन पार्टनर) की गला घोंटकर कथित रूप से हत्या कर दी, उसके शव के करीब 35 टुकड़े कर उन्हें लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर की क्षमता वाले फ्रिज में रखा एवं एक के बाद एक कर उन्हें राष्ट्रीय राजधानी के विभिन्न हिस्सों में फेंक दिया। आफताब अमीन पूनावाला की गिरफ्तारी के बाद यह नृशंसा घटना 6 माह बाद सामने आयी। उनके अनुसार महिला के शव के कटे हुए कुछ हिस्से मिले हैं तथा पुलिस हत्या में प्रयुक्त हथियार तलाश रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *