Breaking News

शिकंजी पीने के इन 7 फायदों के बारे में जानकर रह जाएंगे आप हैरान

अब ठंड का मौसम धीरे धीरे जा रहा है और गर्मियां कुछ ही दिनों में शुरू होने वाली हैं। वहीं गर्मियों में कुछ लोगों को प्रॉब्लम हो जाती हैं जिससे उन्हें कुछ ऐसे ड्रिंक्स की जरूरत पड़ती जिससे उनका स्वास्थ्य ठीक रह सके। कुछ ड्रिंक्स ऐसी हैं, जो अधिकतर गर्मियों में ही पी जाती है क्योंकि ये गर्मियों में होने वाली समस्याओं को खत्म करने में सहायता करती हैं। जैसे, एसिडिटी, जी मितलाना या खाना न पचने की समस्याएं होती हैं, ऐसे में ये ड्रिंक्स काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। शिकंजी भी ऐसी ही ड्रिंक है, जिसका प्रयोग गर्मियों में स्वाद के लिए किया जाता है मगर क्या आप जानते हैं कि स्वाद के अलावा शिकंजी शरीर के लिए कई मायनों में लाभकारी है। आज हम आपको बताते हैं कैसे-

शिकंजी पीने के क्या हैं लाभ
शिकंजी पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता दुरुस्त रहती है मगर इसे बनाने में यह सावधानी बरतनी चाहिए कि में चीनी के स्थान पर गुड़ का प्रयोग करें। बता दें अधिक चीनी डालने से यह पेट में एसिडिटी पैदा कर सकती है।

गर्मियों में पसीना बहुत आता है जिसके कारण शरीर के कई जरूरी तत्व जैसे इलेक्ट्रॉलाइट्स भी बाहर आ जाते हैं। प्रतिदिन अगर कोई एक गिलास से शिकंजी पीता है तो उसके शरीर में इन तत्वों की मात्रा बनी रहती है।

शिकंजी में विटामिन सी से भरपूर मात्रा में होता है जिसके कारण त्वचा में निखार आ जाता है। सप्ताह में एक बार पीने से त्वचा समस्याएं भी दूर होती हैं।

शिकंजी में मौजूद पोटेशियम से हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में किया जा सकता है। जब भी हाई बीपी की समस्या महसूस हो, तो एक गिलास शिकंजी का सेवन जरूर करना चाहिए।

शिकंजी पीने से डिप्रेशन से भी आराम मिलता है। कई शोध में यह बात पता चली है कि शरीर के हाइड्रेड रहने से तनाव से दूर रहने में सहायता मिलती है। वहीं, शिकंजी में नींबू का प्रयोग होता है, जोकि रिलेक्स रखने में काफी मदद करता है।

शिकंजी पीने से मुंह से आने वाली बदबू भी दूर भाग जाती है। साथ ही रोजाना दो से तीन बार इसे पीने दांतों और मसूड़ों की प्रॉब्लम में भी आराम मिलता है।

शिकंजी पीने से पेट सम्बन्धित समस्याएं जैसे हाजमा भी दुरुस्त रहता है। इसमें नींबू और नमक होने कारण यह पेट को गर्म नहीं होने देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *