Breaking News

शाजापुरः दबंगों ने दलित लड़की को स्कूल जाने से रोका, दो पक्षों के बीच चले लाठी-डंडे

केन्द्र से लेकर राज्य सरकार (government) तक जहां बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ (Save Beti, Padhao Beti) के बड़े अभियान (Big campaigns) चला रही हैं, वहीं बेटियों के दुश्मन उन्हें आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं लेकिन मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के शाजापुर जिले (Shajapur district) में एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां कुछ दबंगों ने दलित नाबालिग लड़की को स्कूल जाने से रोक दिया। इसी बात को लेकर दो पक्षों में जमकर विवाद हुआ और उनके बीच लाठी-डंडे भी चले। सोमवार को इस मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया है।

जानकारी के अनुसार, शाजापुर कोतवाली थाना क्षेत्र के ग्राम बावलियाखेड़ी में एक दलित लड़की के स्कूल जाने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया। विवाद में जमकर लाठी-डंडे चले। मामले में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराया है। एक पक्ष का कहना है कि उनके परिवार की लड़की स्कूल जाती है तो आरोपित उसे स्कूल नहीं जाने देना चाहते। आरोपितों का कहना है कि गांव की कोई भी लड़की स्कूल नहीं जाती, इसलिए तुम्हारे घर की लड़की भी स्कूल नहीं जाएगी। वहीं दूसरे पक्ष के लोगों का आरोप है कि वह लोग रास्ते से निकल रहे थे। तभी उन्हें रास्ते से निकलने से रोका गया। जिस पर विवाद हुआ। मामले में पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

कोतवाली थाना प्रभारी अवधेश कुमार शेषा ने सोमवार को बताया कि ग्राम बावलियाखेड़ी निवासी 16 वर्षीय छात्रा ने शिकायत दर्ज कराई है कि वह स्कूल से घर लौट रही थी, तभी गांव के कुंदन, धमेंद्र, सजनसिंह, माखन, ईश्वर, तोफान और अनोपसिंह ने उसे रोककर कहा कि गांव की कोई लड़की स्कूल नहीं जाती। तुम क्यों स्कूल जाती हो और मेरा झोला खींचकर उतार दिया। इतने में ही मेरा मामा का लड़का सचिन आया। उसने लड़कों से कहा कि तुम कौन होते हो हमारे घर की लड़की को बोलने वाले। इस पर उसके साथ मारपीट की गई। इसके बाद हम घर चले गए।

तभी कुछ देर बाद आरोपित पक्ष के लोग हमारे घर आए और लाठी-डंडे से हमला कर दिया। इधर, मामले में दूसरे पक्ष का कहना है कि वह लोग रास्ते से गुजर रहे थे। दूसरे पक्ष के माखन पुत्र शिवसिंह निवासी बावलियाखेड़ी ने शिकायत दर्ज कराई है कि आरोपित पक्ष के सचिन, कमल, लाखन और माखन ने उनके साथ गाली-गलौच कर मारपीट की और जान से मारने की धमकी दी। दोनों पक्षों की शिकायत पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज किए हैं।

मामले में एक पक्ष की ओर से छात्रा की शिकायत पर कुंदन, धमेंद्र, सजन, माखन, ईश्वर, तोफान और अनोपसिंह निवासी ग्राम बाबलियाखेड़ी के खिलाफ मारपीट और एट्रोसिटी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। वहीं दूसरे पक्ष के माखन सिंह की शिकायत पर सचिन, कमल, माखन और लाखन के खिलाफ मारपीट की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

दोनों पक्षों के बीच हुए विवाद का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें जमकर लाठी-डंडे चलते दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान कुछ लोग बीच-बचाव करते हुए भी देखे जा रहे हैं। विवाद में नारायण मेवाड़ उम्र 55 साल, अंतर बाई उम्र 50 साल, लखन परिहार उम्र 25 साल, कमल मेवाड़ उम्र 27 साल और 16 साल के एक किशोर को चोट आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *