Breaking News

विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा: कहा- विज्ञापन पर बंगाल की तस्वीर

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार (Yogi Adityanath) के एक विज्ञापन को लेकर विपक्षी दलों ने हमला बोल दिया है. विज्ञापन में जिन तस्वीरों को लगाया गया, वह तस्वीरें पश्चिम बंगाल में कोलकाता की बताई जा रही हैं. इसी मुद्दे पर तृणमूल कांग्रेस, सपा आदि ने यूपी सरकार पर निशाना साधा है. टीएमसी ने उत्तर प्रदेश और बीजेपी के विकास के दावे को खोखला बताते हुए सियासी हंगामा शुरू कर दिया. टीएमसी सांसद और ममता बनर्जी के भतीजे ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ के लिए यूपी को बदलने का मतलब ममता बनर्जी के नेतृत्व में बंगाल में किए गए बुनियादी ढांचे से तस्वीरों को चोरी करना और उन्हें अपने रूप में इस्तेमाल करना है. ऐसा लगता है कि डबल इंजन मॉडल बीजेपी के सबसे मजबूत राज्य में बुरी तरह विफल हो गया है.

समाजवादी पार्टी ने भी यूपी सरकार को घेरा है. सपा ने ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा, ”मुख्यमंत्री के झूठ की फिर खुल गई पोल. विज्ञापनों में जनता का पैसा पानी की तरह बहाने वालों के पास दिखाने के लिए अपना किया कोई काम नहीं, तो कोलकाता में हुए निर्माण की तस्वीर छाप कर जनता को कर रहे गुमराह, शर्मनाक यह है झूठ बोलने में नंबर एक बीजेपी सरकार. जिसके दिन हैं बचे चार.” वहीं, सपा से जुड़े आशीष यादव ने निशाना साधते हुए ट्वीट किया , ”बाबा जी बंगाल का काम यूपी का बता रहे हैं. लगता है पश्चिम बंगाल का नाम बदल कर उत्तर प्रदेश रखने जा रहे? ”

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने भी योगी सरकार के विज्ञापन पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि ऐसा विकास न सुना होगा न देखा होगा. कोलकाता का फ्लाईओवर खींचकर लखनऊ ले आये हमारे CM आदित्यनाथ जी. भले ही विज्ञापन में ले आये लेकिन लाए तो. उधर, रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्यप्रताप सिंह ने तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखा है कि किसी ट्वीट में ‘प्रतीकात्मक तस्वीर’ डालने पर गंभीर धाराओं में मुक़दमे लिख देने वाली उत्तर प्रदेश पुलिस आज बताए कि अगर मुख्यमंत्री अन्य राज्यों से तस्वीरें चुराकर बाकायदा विज्ञापन देते हैं, अन्य सरकारों द्वारा दी गयी नौकरियों को अपना बता विज्ञापन देते हैं, तो उनपर कार्यवाही होगी?

वहीं, तृणमूल कांग्रेस का जवाब देते हुए मंत्री मोहसिन रजा ने कहा, ”ममताजी भी जानती हैं कि उत्तर प्रदेश एक जमाने में बीमारू प्रदेश हुआ करता था. तब वह अखिलेश यादव से मिलने आती थीं, लेकिन जब से बीजेपी की सरकार आई जो विकास कार्य हुए हैं वह देखकर उनके लिए हैरत की बात है. यह उनके लिए परेशानी वाली बात है. यूपी में रोहिंग्या, आतंकवादी समर्थक सरकार नहीं है. यहां घुसपैठियों वाली सरकार नहीं है. यहां विकास पर सरकार बनी है. उनके यहां जब सरकार बनती है तो रोहिंग्यों को भी साथ लिया जाता है. घुसपैठियों की मदद ली जाती है और अगर आतंकवादियों के भी मदद ली जाती है और यहां पर जो उनके सहयोगी हैं वह भी यही करते हैं.

 

यूपी सरकार के मंत्री रजा ने आगे कहा, ”उत्तर प्रदेश में चौमुखी विकास हो रहा है जो इनकी कल्पना में भी नहीं था क्योंकि उन्होंने तो विनाश वाला उत्तर प्रदेश देखा था ऐसा विकास वाला उत्तर प्रदेश तो देखा ही नहीं था. हो सकता है कोई उनका हमारा मॉडल उनको पसंद आया हो और हमारे मॉडल को उनके लोगों ने अपना लिया हो. हर राज्य चाहता है कि उत्तर प्रदेश की तरह वह भी विकास में अग्रिम पंक्ति में खड़ा हो. जो विकास हो रहा है वह सबको दिख रहा है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *