Breaking News

विदेशी मेडिकल ग्रेजुएट्स की रजिस्ट्रेशन में धांधली, पंजाब, हिमाचल समेत 91 स्थानों पर CBI की छापेमारी

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) ने गुरुवार को फर्जी सर्टिफिकेट्स के आधार पर मेडिकल काउंसिल में विदेशी मेडिकल ग्रेजुएट्स के रजिस्ट्रेशन में धांधली के मामले में देशभर में लगभग 91 स्थानों पर छापेमारी की है। इस दौरान सीबीआई की टीम ने एफएमजी परीक्षा के फर्जी पास प्रमाणपत्र समेत कई आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए हैं। सीबीआई ने स्टेट मेडिकल काउंसिल्स और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के अज्ञात सरकारी कर्मचारियों वहीं 73 विदेशी मेडिकल ग्रेजुएट्स और अन्य अज्ञात सरकारी कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। नेशनल बोर्ड ऑफ एक्जामिनेशन इन मेडिकल साइंसेज (एनबीईएमएस) द्वारा आयोजित क्वालिफाइंग फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट्स परीक्षा के फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर कई राज्यों में मेडिकल काउंसिल के साथ विदेशी मेडिकल ग्रेजुएट्स के रजिस्ट्रेशन में अनियमितताओं के आरोप थे।

यह आरोप लगाया गया है कि 73 विदेशी मेडिकल ग्रेजुएट्स हैं जो अनिवार्य योग्यता परीक्षा पास नहीं कर सके। कई राज्यों में मेडिकल काउंसिल के साथ वह खुद का रजिस्ट्रेशन कराने में कामयाब रहे। अधिकारी ने कहा कि यह भी आरोप लगाया गया कि इस तरह के फर्जी प्रमाणपत्रों पर रजिस्ट्रेशन कराने से उम्मीदवारों को अभ्यास करने या देश भर के अस्पतालों में नौकरी हासिल करने में मदद मिली। दिल्ली, चंडीगढ़, अमृतसर, गुरदासपुर, बठिंडा, खन्ना, करनाल, सवाईमाधोपुर, नरवाना, हमीरपुर, शिमला, जम्मू, श्रीनगर, देहरादून, गाजियाबाद, गुवाहाटी, तेजपुर, इंफाल, सिक्किम, राजपुर, पटना, मुंगेर, मुंबई, जयपुर, सीकर, विजयवाड़ा, वारंगल, तिरुनेलवेली, मदुरै, भोपाल, नागपुर, बुलढाणा, पुणे, जलगांव, दरभंगा, भागलपुर, चंपारण, बेगूसराय, बोकारो, विजाग, हाजीपुर, वैशाली और नालंदा में छापेमारी की गई। रिपोर्ट के अनुसार, मामले में आगे की जांच जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *