Breaking News

यूक्रेन के हालात पर रूस के रक्षा मंत्री ने US और नाटों देशों से की बातचीत

रूस-यूक्रेन (Russia-Ukraine) के बीच आठ महीने से चल रही जंग लगातार जारी है। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) इसे खत्म करने का नाम नहीं ले रहे तो वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की (Ukraine President Volodymyr Zelenskyy) झुकने को तैयार नहीं हैं। इस बीच रूस (Russia) और अमेरिका (America) के बीच यूक्रेन को लेकर अहम बातचीत हुई है। यह बातचीत अमेरिका और रूस के रक्षा मंत्रियों के बीच हुई है। रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने रविवार को यूक्रेन की स्थिति पर अमेरिका के रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन से फोन पर बातचीत की। इस दौरान ऑस्टिन ने यूक्रेन में चल रहे संघर्ष के बीच बातचीत को जारी रखने महत्व पर जोर दिया। रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि बातचीत के दौरान यूक्रेन की स्थिति सहित अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के सामयिक मुद्दों पर भी चर्चा की गई।

बता दें कि दोनों मंत्रियों ने इससे पहले शुक्रवार को भी इस मुद्दे पर बात की थी। यूक्रेन में क्रेमलिन के अधिकारियों ने कहा था कि वे यूक्रेन की सेना की प्रगति के कारण देश के दक्षिणी शहर खेरसॉन को “किले” में बदल रहे हैं। इस बयान के बाद अमेरिका और रूस के रक्षा मंत्रियों के बीच बातचीत हुई। रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध में तेजी के दौरान दोनों देशों के बीच हुई बातचीत के बारे में संक्षिप्त विवरण देते हुए पेंटागन ने शुक्रवार को यूक्रेन में युद्ध के बीच संचार की आवश्यकता पर जोर दिया।

शोइगु ने नाटो के समकक्षों के साथ फोन पर की बात
रूसी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 23 अक्तूबर, 2022 को रूसी रक्षा मंत्री जनरल शोइगु और अमेरिकी रक्षा मंत्री ऑस्टिन ने बातचीत की। रक्षा एजेंसियों के प्रमुखों ने यूक्रेन की स्थिति पर चर्चा की। इससे पहले शोइगु ने नाटो (उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन) के समकक्षों के साथ फोन पर बात की जिसमें उन्होंने यूक्रेन पर चर्चा की। शोइगु ने फ्रांस, तुर्की और ब्रिटेन के रक्षा मंत्रियों के साथ अगल-अलग बात की और यूक्रेन में चल रहे संघर्ष पर चर्चा की। रूसी रक्षा मंत्री ने यूक्रेन द्वारा तथाकथित खतरनाक बम, रेडियोधर्मी सामग्री वाले विस्फोटक उपकरण के संभावित उपयोग पर चिंता व्यक्त की।

रूस ने यूक्रेन द्वारा संभावित उकसावे को लेकर चिंता जताई
मंत्रालय ने कहा कि शोइगु और फ्रांसीसी रक्षा मंत्री सेबेस्टियन लेकोर्नू के बीच रविवार को फोन पर बात हुई। जिसमें यूक्रेन की स्थिति पर चर्चा की गई। शोइगु ने अपने समकक्ष लेकोर्नू से कहा है कि यूक्रेन में स्थिति तेजी से बदतर हो रही है और अनियंत्रित तनाव की ओर बढ़ रही है। इस दौरान शोइगु ने पिछली मीडिया रिपोर्टों के एक स्पष्ट संदर्भ में संभावित यूक्रेनी उकसावे के बारे में चिंता व्यक्त की, जिसमें ‘डर्टी बम’ का उपयोग शामिल हो सकता है। रूसी रक्षा मंत्री ने रविवार को दावा किया कि यूक्रेन एक रेडियोधर्मी उपकरण का इस्तेमाल कर उसे उकसाने की तैयारी कर रहा है। रूसी अधिकारियों ने बार-बार दावा किया है कि यूक्रेन एक ‘डर्टी बम’ का इस्तेमाल कर सकता है और इसके लिए मास्को को जिम्मेदार ठहरा सकता है।

मंत्रालय ने कहा कि इसके बाद शोइगु ने अपने तुर्की समकक्ष हुलुसी अकर (Hulusi Akar) और ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस (Ben Wallace) के साथ भी फोन पर बातचीत की। तीन देशों के साथ बातचीत में शोइगु ने ‘डर्टी बम’ के उपयोग के साथ यूक्रेन द्वारा संभावित उकसावे के बारे में चिंता व्यक्त की। मंत्रालय ने कहा कि रक्षा मंत्री ने यूक्रेन के लिए ब्रिटेन और व्यापक अंतरराष्ट्रीय समर्थन को भी दोहराया और तनाव घटाने की इच्छा जाहिर की। गौरतलब है कि यूक्रेन के दक्षिणी हिस्से में आगे बढ़ रहे यूक्रेनी सैनिकों को रोकने में रूस संघर्ष कर रहा है और हर जगह यूक्रेनी सेना को रोकने के लिए रक्षात्मक मोर्चा बना रहा है।

ब्रिटिश रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस के साथ शोइगु ने अपनी बातचीत में आरोप लगाया कि यूक्रेन पश्चिमी देशों के इशारे पर ऐसा करने की योजना बना रहा है। ब्रिटेन ने इन दावों को सिरे से खारिज कर दिया है। बातचीत के दौरान वालेस ने इस दावे का खंडन किया कि पश्चिमी देशों ने यूक्रेन को संघर्ष बढ़ाने में मदद की और आगाह किया कि इस तरह के आरोपों को युद्ध को बढ़ाने के बहाने के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। बयान में कहा गया है कि रूसी पक्ष द्वारा कॉल का अनुरोध किया गया था।

क्या होता है ‘डर्टी बम’?
‘डर्टी बम’ एक ऐसा उपकरण है जो रेडियोधर्मी पदार्थों को बिखेरने में विस्फोटकों का इस्तेमाल करता है। यह बम परमाणु विस्फोट जितना विनाशकारी प्रभाव वाला नहीं होता, लेकिन यह रेडियोधर्मी संदूषण से एक बड़े क्षेत्र को प्रदूषित कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *