Breaking News

मां भगवती की साधना के दिन आज से शुरू, नौ दिनों तक भूलकर भी न करें ये काम

आज यानी 12 फरवरी से मां भगवती की आराधना के पवित्र गुप्त नवरात्रि (Gupt Navratri 2021 ) के दिन शुरू हो रहे हैं. माघ मास की ये गुप्त नवरात्रि 21 फरवरी तक चलेगी. गुप्त नवरात्रि के दौरान विशेष सिद्धियां प्राप्त करने के लिए माता के काली रूप और दस महाविद्याओं की साधना की जाती है. इस दौरान किए जाने वाले पाठ, मंत्र जाप और अपनी मनोकामना को पूरी तरह गुप्त रखा जाता है. पूजा-पाठ गुप्त रखने के पीछे धारणा है कि ऐसा करने से उसके लाभ और प्रभाव में वृद्धि होती है. लेकिन इन नियमों के साथ ही इस व्रत के दौरान कुछ चीजों को न करने की बात कही गई है. जानिए उनके बारे में.

1. गुप्त नवरात्रि के दौरान मांस-मदिरा, लहसुन और प्याज का बिल्कुल सेवन नहीं करना चाहिए. इन्हें तामसिक माना जाता है.

2. महिलाओं के साथ व्रत के दौरान ही नहीं, बल्कि सामान्य दिनों में भी कभी दुर्व्यवहार न करें. मां दुर्गा स्वयं एक नारी हैं, इसलिए वे अपने उन भक्तों से प्रसन्न रहती हैं जो नारी का सम्मान करते हैं. मां दुर्गा उन पर अपनी कृपा बरसाती हैं.

3. नवरात्रि के दिनों में घर में क्लेश, द्वेष या अपमान नहीं करना चाहिए. कहते हैं कि ऐसा करने से बरकत नहीं होती है.

4. सिर्फ पूजा पाठ ही नहीं बल्कि नवरात्रि के दौरान घर की स्वच्छता का भी विशेष ख्याल रखना चाहिए. नौ दिनों तक सूर्योदय के समय ही उठकर घर की साफ-सफाई करें और स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करें.

5. नवरात्रि का व्रत रखा है तो काले रंग के कपड़े, चमड़े के बेल्ट या जूते पहनने से परहेज करें. इसके अलावा इन नौ दिनों तक बाल, दाढ़ी और नाखून नहीं काटने चाहिए.

6. नवरात्रि के नियम बहुत कठिन होते हैं. खासकर गुप्त नवरात्रि में जब आप किसी खास सिद्धि के लिए गुप्त पूजन कर रहे हों तो इस बात का विशेष ख्याल रखें कि इन नौ दिनों में बिस्तर पर नहीं, बल्कि जमीन पर चटाई बिछाकर सोएं.

7. बड़े-बुजुर्गों या घर पर आए किसी मेहमान या भिखारी का अपमान नहीं करना चाहिए.

इन दस महाविद्याओं का पूजन किया जाता है पूजन

मां कालिके
तारा देवी
त्रिपुर सुंदरी
भुवनेश्वरी
माता चित्रमस्ता
त्रिपुर भैरवी
मां धूम्रवती
माता बगलामुखी
मातंगी
कमला देवी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *