Breaking News

महारानी एलिजाबेथ के निधन पर भारत में 11 सितंबर को एक दिन का रहेगा राजकीय शोक

महारानी एलिजाबेथ के निधन पर (On the Death of Queen Elizabeth) भारत में (In India) 11 सितंबर को (On September 11) एक दिन के राजकीय शोक (One-Day State Mourning) का ऐलान किया गया है (Has been Announced) । गृह मंत्रालय ने जानकारी दी कि भारत सरकार ने फैसला किया है कि ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर भारत में 11 सितंबर को एक दिवसीय राजकीय शोक होगा। वैसे पूरे ब्रिटेन में आज से 10 से 12 दिनों तक राजकीय शोक मनाया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, “महारानी एलिजाबेथ की मृत्यु पर में यूनाइटेड किंगडम के लोगों के लिए शोक व्यक्त करता हूं। वह सबसे लंबे समय तक राज करने वाली राजशाही में से एक थीं और वे भारत की सच्ची दोस्त भी थीं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी भावनाओं को भी प्रकट किया है जब वे उनसे मिले थे।”

ब्रिटेन में आज किंग चार्ल्स ब्रिटेन को पहली बार संबोधित करेंगे। देश के नाम उनका संबोधन महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर आधारित होगा। गौरतलब है कि ब्रिटेन की सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर बाल्मोरल महल के परिसर के बाहर लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए फूलों के गुलदस्ते रखे हैं। बता दें कि एलिजाबेथ द्वितीय ब्रिटेन पर सबसे लंबे समय तक राज करने वाली शाही हस्ती रहीं। वह 70 साल शासन के शीर्ष पर रहीं। बकिंघम पैलेस ने एक बयान जारी कर कहा, “बाल्मोरल में महारानी का निधन हो गया। किंग और क्वीन कंसोर्ट आज बाल्मोरल से लंदन लौटेंगे।”

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर चीन की राज्य मीडिया ने शी जिनपिंग की तरफ से दिए शोक संदेश को लेकर जानकारी दी कि चीनी सरकार, चीन के लोगों और खुद की तरफ से शी जिनपिंग ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर दुख जताया है। इसके साथ ही उन्होंने शाही परिवार और ब्रिटेन के लोगों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। जिनपिंग ने शुक्रवार को एलिजाबेथ द्वितीय को याद करते हुए कहा कि महारानी चीन की यात्रा करने वाली पहली ब्रिटिश शासक थीं। उन्होंने 1986 में चीन की यात्रा की थी। उनकी मृत्यु ब्रिटिश लोगों के लिए एक बड़ी क्षति है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ब्रिटिश एंबेसी जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने जिल बाइडेन संग ब्रिटिश दूतावास में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की मृत्यु के बाद एक शोक पुस्तक पर हस्ताक्षर किया।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी महारानी एलिजाबेथ के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, यूनाइटेड किंगडम के इतिहास की महत्वपूर्ण घटनाएं महामहिम के नाम से जुड़ी हुई हैं।

 

एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर ब्राजील में अनोखे अंदाज में श्रद्धांजलि दी गई। इसके लिए ब्राजील की क्राइस्ट द रिडीमर की विशाल मूर्ति पर यूनाइटेड किंगडम के झंडे के रंग को प्रदर्शित किया गया। इसमें लाल, नीले और सफेद रंगों की रोशनी बिखेरी गई। इससे पहले पेरिस में एफिल टॉवर की लाइटों को बंद कर दिया गया था।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि महारानी ज्ञान, प्रेम और शांति का एक उदाहरण थीं। उन्होंने कहा, “दुनिया आज उनके महान कार्यों को याद कर रही है जो उन्होंने ने अपने पूरे शासनकाल में किए थे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *