Breaking News

भारत को घेरने के लिए चीन की रणनीति, बीआरआइ पर शी ने मांगा बांग्लादेश का साथ

भारत को घेरने की रणनीति के तहत चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कहा है कि वह बांग्लादेश के साथ रणनीतिक संबंधों को और बेहतर बनाने के लिए तैयार हैं। उन्होंने दोनों देशों के रणनीतिक संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआइ) को संयुक्त रूप से बढ़ावा देने के लिए कहा है।

शी ने यह बात दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की स्थापना की 45वीं वर्षगांठ पर बांग्लादेशी समकक्ष मोहम्मद अब्दुल हमीद के साथ बधाई संदेशों के आदान-प्रदान में कही। अपने बधाई संदेश में शी ने स्थिर और दीर्घकालिक दोस्ती की सराहना करते हुए कहा कि वह हामिद के साथ बेहतर विकास रणनीतियों को संवारने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि बीआरआइ परियोजना के तहत दोनों देश सहयोग बढ़ाएं और चीन-बांग्लादेश रणनीतिक साझेदारी को नए मुकाम पर ले जाएं। बांग्लादेश की आधारभूत परियोजना में चीन अब तक 26 अरब डॉलर का निवेश कर चुका है और 38 अरब डॉलर निवेश की प्रतिबद्धता जताई है।

 

चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को बधाई संदेश भी भेजा था। जिसमें उन्होंने कहा था कि बांग्लादेश और चीन की समय के साथ परखी गई मित्रता अब रणनीतिक साझेदारी में तब्दील  हो चुकी है। जानकारी के लिए बता दें कि चीन ने बांग्लादेश में 26 अरब डॉलर का निवेश किया है जबकि 38 अरब डॉलर निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई है।

वहीं भारत के पड़ोसी देशों के साथ आर्थिक कूटनीति खेलने में जुटे चीन ने एलान किया है कि वह बांग्लादेश के 97 फीसदी उत्पादों पर टैक्स हटा देंगे। चीन के इस एलान के बाद बांग्लादेश काफी खुश है। इतना ही नहीं  बांग्लादेश के राजनयिकों ने इसे पेइचिंग और ढाका के संबंधों में मील का पत्थर बताया था। वहीं, बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने कहा कि मत्स्य और चमड़े के उत्पादों सहित 97 फीसदी वस्तुओं को चीन टैरिफ से छूट दे दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *