Breaking News

भारतीयों के दिल में रहते हैं सरदार पटेल, पीएम मोदी ने वीडियो संदेश से किया नमन

सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्टैचू ऑफ यूनिटी पर आयोजित एकता परेड को वीडियो संदेश के माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वल्लभभाई पटेल को आज देश अपनी श्रद्धांजलि दे रहा है। सरदार पटेल सिर्फ इतिहास में नहीं रहते, बल्कि वे सभी भारतीयों के दिल में रहते हैं। पीएम मोदी ने राष्ट्रीय एकता दिवस पर सभी देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं दी। एक भारत-श्रेष्ठ भारत के लिए जीवन का हर पल जिसने समर्पित किया है। ऐसे राष्ट्र नायक सरदार वल्लभभाई पटेल को आज देश अपनी श्रद्धांजलि दे रहा है।

सशक्त और समावेशी भारत चाहते थे पटेल

पीएम मोदी ने कहा कि सरदार पटेल हमेशा चाहते थे कि भारत सशक्त हो, समावेशी भी हो, संवेदनशील हो और सतर्क भी हो, विनम्र हो, विकसित भी हो। सरदार पटेल ने देशहित को हमेशा सर्वोपरि रखा। पीएम मोदी ने कहा कि आज उनकी प्रेरणा से भारत, बाहरी और आंतरिक, हर प्रकार की चुनौतियों से निपटने में पूरी तरह से सक्षम हो रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि आजाद भारत के निर्माण में सबका प्रयास जितना तब प्रासंगिक था, उससे कहीं अधिक आजादी के इस अमृतकाल में होने वाला है। आजादी का ये अमृतकाल, विकास की अभूतपूर्व गति का है। कठिन लक्ष्यों को हासिल करने का है। पीएम मोदी ने कहा कि आजादी का अमृतकाल सरदार साहब के सपनों के भारत के नवनिर्माण का है।

भारत के नवनिर्माण का समय

मोदी ने कहा कि आजादी का यह अमृत काल विकास की गति का है अद्भुत और सिद्धि को हासिल करने का है। यह सरदार साहब के भारत के नवनिर्माण का है। सरदार साहब हमारे देश को एक शरीर के रूप में देखते थे। एक जीवंत इकाई के रूप में देखते थे। इसलिए उनकी एक भारत का मतलब यह भी था, जिसमें हर किसी के लिए एक समान अवसर हो, एक समान सपने देखने का अधिकार हो। पीएम मोदी ने कहा कि आज से कई दशक पहले उस दौर में भी उनके आंदोलनों की ताकत यह होती थी कि उसमें महिला-पुरुष हर वर्ग, हर पंथ की सामूहिक उर्जा लगती थी। उन्हांेने कहा कि इसलिए आज जब हम एक भारत की बात करते हैं तो उस एक भारत का स्वरूप क्या होना चाहिए। उसे एक भारत का स्वरूप होना चाहिए। एक ऐसा भारत, जिसकी महिलाओं के पास एक से अनेक अवसर हो, एक ऐसा भारत जहां दलित, वंचित, आदिवासी, वनवासी देश का प्रत्येक नागरिक खुद को एक समान महसूस करें। एक ऐसा भारत जहां पर बिजली पानी जैसी सुविधाओं में भेदभाव नहीं, एक समान अधिकार हो यही तो आज देश कर रहा है। इसी दिशा में नित नए लक्ष्य तय कर रहा है और यह तब हो रहा है क्योंकि आज देश के हर संकल्प में सब का साथ जुड़ा हुआ है।

पीएम की जगह अमित शाह हुए शामिल

केवड़िया में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैचू ऑफ यूनिटी के निर्माण के बाद मोदी सरकार ने सरदार पटेल जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी। इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इटली की राजधानी रोम में होने की वजह से गृह मंत्री अमित शाह इस एकता परेड में शामिल हुए। एकता परेड में देश की सभी राज्यों के पुलिसकर्मियों के जरिए परेड हुई। साथ ही सीआईएसएफ और बीएसएफ के साथ-साथ देश की दूसरी अन्य फोर्सेज भी इस परेड में शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *