Breaking News

बीजापुर नक्सली हमला: मुठभेड़ के बाद 15 जवान है लापता, बढ़ सकता है शहीद जवानों का आंकड़ा, सर्च ऑपरेशन जारी

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में 5 जवान शहीद हो गए। पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों के साथ हुई इस मुठभेड़ में 12 अन्य जवानों के घायल होने की सूचना है। वहीं, सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में कम से कम 9 माओवादी भी ढेर हुए हैं। पुलिस ने बताया कि इस मुठभेड़ में कुछ नक्सलियों के भी मारे जाने की संभावना है। बीजापुर के तर्रेम क्षेत्र में CRPF की कोबरा बटालियन, DRG और STF के जवानों को नक्सल विरोधी अभियान में रवाना किया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना को लेकर शोक जताया है।

बचाव कार्य में इंडियन एयरफोर्स ने उतारे Mi-17 हेलीकॉप्टर

आईजी बस्तर पी सुंदरराज ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि शुरुआती जानकारी में मुठभेड़ में कम से कम 9 और नक्सली मारे गए हैं, जबकि लगभग 15 अन्य घायल हुए हैं। उन्होंने कहा कि इसकी पुष्टि के लिए हमें और समय की आवश्यकता होगी। IG ने कहा कि हमारे अनुमान के अनुसार, वहां 250 नक्सली थे। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल पर एक महिला नक्सली की बॉडी भी मिली है। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि घायल जवानों के रेस्क्यू में मदद करने के लिए इंडियन एयरफोर्स ने Mi-17 हेलीकॉप्टर लगा दिए हैं।

जवानों की शहादत पर पीएम मोदी ने जताया शोक

छत्तीसगढ़ नक्सली हमले में 5 जवानों की शहादत पर पीएम नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में लिखा, ‘छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए लोगों के परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। वीर शहीदों की कुर्बानियों को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’ वहीं, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुठभेड़ में घायल हुए जवानों को बेहतर इलाज की सुविधा मुहैया कराने का निर्देश दिया है।

‘घटना में कुछ अन्य जवानों के घायल होने की सूचना’

राज्य के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने शनिवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के बीजापुर जिले के तर्रेम क्षेत्र में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबल के 5 जवान शहीद हो गए। अवस्थी ने बताया कि तर्रेम क्षेत्र में सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन, डीआरजी और एसटीएफ के जवानों को नक्सल विरोधी अभियान में रवाना किया गया था। उन्होंने बताया कि दल जब क्षेत्र में था तब नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इस घटना में 12 जवान घायल हो गए।

‘कुछ नक्सलियों के भी मारे जाने की संभावना है’

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि नक्सलियों के हमले के बाद सुरक्षाबल के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की है। उन्होंने कहा कि सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में कुछ नक्सलियों के भी मारे जाने की संभावना है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस मुठभेड़ में घायल जवानों को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में अधिक जानकारी ली जा रही है। बता दें कि इससे पहले 23 मार्च को सूबे के नारायणपुर जिले में सुरक्षाकर्मियों को ले जा रही एक बस को नक्सलियों ने IED से उड़ा दिया था। नक्सलियों के उस हमले में 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *