Breaking News

बिहार में राजद नेता को गोलियों से किया छलनी, लालू-तेजस्वी के करीबी थे मृतक

बिहार के रोहतास जिले में अपराधियों ने बड़ी घटना को अंजाम दिया है. जिला के करगहर में पैक्स अध्यक्ष विजेंदर यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई. विजेंद्र यादव करगहर के प्रमुख भी रह चुके थे और फिलहाल पैक्स अध्यक्ष भी हैं. वो पिछले तीन दशक से लालू प्रसाद यादव तथा राजद से जुड़े हुए थे, साथ ही तेजस्वी यादव के करीबी माने जाते थे.

रविवार की सुबह सवेरे जब वो कुछ मजदूरों के साथ अपने धान के खेत में सोहनी कराने पहुंचे तो उसी दौरान बाइक सवार दो अपराधी आए और उनसे हालचाल जानना चाहा. कुछ निजी बात करने के बहाने खेत से बाहर सड़क पर बुलाया. थोड़ी देर बातचीत करने के बाद पीछे से उनके गर्दन तथा सिर में गोली मार दी. जिससे विजेंद्र यादव की मौके पर ही मौत हो गई.

बाइक से फरार हुए अपराधी
खेत में काम कर रहे मजदूरों ने जब गोलियों की आवाज सुनी तो दौड़कर सड़क पर पहुंचे, तब तक बाइक सवार अपराधी हथियार लहराते हुए भाग निकले. मौके पर ही राजद नेता की मौत हो गई. घटना की सूचना मिलते ही भारी संख्या में स्थानीय लोग मौके पर पहुंच गए. वहीं थोड़ी देर के बाद करगहर थाना की पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची तथा छानबीन शुरू कर दी. इस दौरान पुलिस को ग्रामीणों का आक्रोश झेलना पड़ा.

ग्रामीणों ने पुलिस को भी पीटा
इस दौरान करगहर थाना की पुलिस के साथ आक्रोशित ग्रामीणों ने धक्का- मुक्की तथा पिटाई की. जिसमें दो पुलिसकर्मी को चोट भी लगी है. एक घायल पुलिसकर्मी को इलाज के लिए करगहर के PHC में भर्ती कराया गया है जबकि एक राहगीर को भी लोगों ने मारपीट कर घायल कर दिया है. मौके पर आसपास के विभिन्न थाना की पुलिस के अलावे सासाराम सदर के डीएसपी संतोष कुमार राय भी दल-बल के साथ पहुंचे हैं एवं लोगों को समझाने की कोशिश कर रहे हैं.

डिप्टी सीएम तेजस्वी के थे बेहद करीबी
जानकार बताते हैं कि लालू परिवार से विजेंद्र यादव का पुराना संबंध रहा है. पिछले कुछ चुनावों में उन्होंने राजद के लिए धुआंधार प्रचार भी किया था. तेजस्वी यादव के साथ कई कार्यक्रमों में उन्हें मंच साझा करते हुए भी देखा गया था. बता दें कि कुछ दिनों के लिए वे बहुजन समाज पार्टी तथा भाजपा के भी से भी जुड़ गए थे. वे पिछले कई सालों तक सरकार के प्रखंड प्रमुख भी रहे थे. लेकिन वर्तमान में वह पैक्स अध्यक्ष थे.

पहले भी हुआ था हमला
विजेंद्र यादव पर दो साल पूर्व भी अपराधियों ने फायरिंग की थी. उस दौरान वो बाल-बाल बच गए थे. लेकिन इस बार अपराधियों को सफलता मिल गई. हत्या के पीछे कहीं न कहीं पुरानी रंजिश से इनकार नहीं किया जा सकता है. पुलिस तमाम बिंदुओं पर जांच कर रही है. पुलिस के वरीय पदाधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं. लेकिन फिलहाल कुछ भी जानकारी देने से बच रहे हैं.

आक्रोशित लोगों ने सड़क किया जाम
घटना से आक्रोशित लोगों ने करगहर बाजार में सासाराम- चौसा पथ को जाम कर दिया है तथा अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे हैं. घटना के बाद करगहर बाजार पूरी तरह से बंद हो गया है और भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है. इलाके में तनाव का माहौल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *