Breaking News

बल्लेबाज जावेद मियांदाद और दिग्गज गेंदबाज डेनिस लिली के बीच छिड़ी जंग, एक ने मारी लात तो दूसरे ने उठाया बल्ला

क्रिकेट के मैदान पर अकसर खिलाड़ी एक-दूसरे से भिड़ जाते हैं, लेकिन साल 1981 में ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के मैच के दौरान बात काफी हद तक बढ़ गई थी. पर्थ में ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने थी और मैच के दौरान दो खिलाड़ी इस तरह भिड़ गए कि हाथापाई की नौबत आ गई. इसे टेस्ट क्रिकेट की सबसे अशोभनीय घटना भी कहा जाता है, क्योंकि इससे पहले मैदान में ऐसा वाकया कभी देखने को नहीं मिला था. आइए आपको बताते हैं कि आखिर कौन से दो खिलाड़ी आपस में भिड़े थे और इस लड़ाई की वजह क्या थी.

लिली और मियांदाद की ‘जंग’
पाकिस्तान के सबसे टैलेंटेज बल्लेबाज जावेद मियांदाद और ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज गेंदबाज डेनिस लिली पर्थ टेस्ट में आपस में भिड़ गए थे. साल 1981 में मियांदाद कप्तान बनकर ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए बतौर कप्तान ये उनका पहला विदेशी दौरा था. सीरीज का पहला टेस्ट पर्थ में शुरू हुआ इस मैदान की तेज पिच पर मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम महज 180 रनों पर सिमट गई. जवाब में पाकिस्तान की पहली पारी सिर्फ 62 रन ही बना पाई. डेनिस लिली ने महज 18 रन देकर 5 विकेट चटकाए. इसके बाद दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेट पर 424 रन बना डाले और पाकिस्तान को 543 का लक्ष्य मिला

पाकिस्तान की दूसरी पारी की शुरुआत भी खराब रही. उसने अपने दो विकेट सिर्फ 27 रनों पर गंवा दिये. इसके बाद कप्तान जावेद मियांदाद क्रीज पर उतरे और उन्होंने मंसूर अख्तर के साथ क्रीज पर खूंटा गाड़ लिया. इस दौरान डेनिस लिली ने लगातार मियांदाद   पर अपनी गेंदों से हमले किए लेकिन पाकिस्तानी कप्तान क्रीज पर डटे रहे. इसके बाद एक ऐसी घटना हुई जिसके बारे में शायद ही किसी ने सोचा होगा. डेनिल लिली की एक इनस्विंग गेंद पर मियांदाद   ने एक रन लिया मियांदाद रन पूरा ही कर रहे थे कि अचानक लिली उनके बीच में आ खड़े हुए. मियांदाद ने उनसे टकरा गए और उन्हें थोड़ा सा धक्का दिया इसके बाद दोनों खिलाड़ियों के बीच बहस शुरू हो गई और अंपायर को बीच में आना पड़ा

बहस के बाद मारपीट की कोशिश

अंपायर का बीच में आना नाकाफी हुआ. लिली और मियांदाद   एक-दूसरे को गालियां सुनाए जा रहे थे और तभी ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ने बहुत बड़ी गलती कर दी. डेनिस लिली ने मियांदाद को लात मार दी. इसके बाद मियांदाद इतना भड़क गए कि उन्होंने लिली को मारने के लिए बैट उठा लिया. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ग्रेग चैपल ने किसी तरह दोनों को अलग किया

लिली की चारों ओर हुई आलोचना
ये लड़ाई तो रुक गई लेकिन इस घटना के बाद डेनिस लिली को चारों ओर आलोचनाएं झेलनी पड़ी. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान बॉब सिम्पसन ने इसके क्रिकेट के मैदान की सबसे शर्मनाक घटना करार दिया. वहीं पूर्व ऑलराउंडर कीथ मिलर ने डेनिस लिली को पूरे सीजन के लिए बैन करने की मांग कर दी. हालांकि लिली पर महज 200 ऑस्ट्रेलियन डॉलर का जुर्माना लगा. इस सजा से पाकिस्तानी टीम मैनेजमेंट बिलकुल खुश नहीं था.

अपनी इस हरकत पर डेनिस लिली (Dennis Lillee) ने पाकिस्तानी टीम से माफी मांगी लेकिन उन्होंने मियांदाद पर पहले धक्का देने का आरोप लगाया. जबकि मियांदाद का कहना था कि लिली उनके रास्ते में आए और उन्हें गंदी गालियां भी दी. पाकिस्तानी टीम के मैनेजर इजाज बट से जब उस घटना के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान का कोई खिलाड़ी ऐसा करता तो फिर वो कभी टेस्ट क्रिकेट नहीं खेल पाता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *