Breaking News

पुजारी हत्याकाण्ड का सफल अनावरण, रुपयों की लालच में की गयी थी हत्या!

बाराबंकी: विगत दिनों थाना टिकैतनगर क्षेत्रान्तर्गत स्थित हनुमान मंदिर के पुजारी की निर्मम हत्या से पूरे इलाके में सनसनी फैल गयी थी, जिसके क्रम में वादी कमलेश कुमार पुत्र सुरेशचन्द्र निवासी भुडेहरी द्वारा थाना टिकैतनगर पर सूचना दी गयी कि उसके पिता सुरेशचन्द्र वर्ष-2018 से खमोली स्थित हनुमान मन्दिर थाना टिकैतनगर में पुजारी थे और वहीं मन्दिर के पास बने कमरे में रहते थे जिनकी हत्या अज्ञात लोगों द्वारा कर दी गई है, इस सूचना पर थाना टिकैतनगर पर मु0अ0सं0-161/21 धारा 302 भादवि पंजीकृत किया गया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक बाराबंकी यमुना प्रसाद द्वारा घटना का सफल अनावरण कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने हेतु अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी मनोज कुमार पाण्डेय के निर्देशन, क्षेत्राधिकारी रामसनेहीघाट पंकज सिंह के पर्यवेक्षण में पुलिस टीमों का गठन किया गया। प्रभारी निरीक्षक टिकैतनगर के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा परिस्थितिजन्य साक्ष्य एवं डिजिटल साक्ष्य से घटना के अनावरण के प्रयास किये जा रहे थे। इसी बीच पुलिस ने मैनुअल इंटेलीजेंस के आधार पर अभियुक्त देशराज पुत्र स्व0 सम्पतराम निवासी ग्राम सराय बरई थाना टिकैतनगर जनपद बाराबंकी को मोदी नगर मोड़ से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त के निशांदेही पर हत्या में प्रयुक्त सरिया, 01 अदद पाकेट डायरी (अन्दर 03 अदद जमा पर्ची SBI), 01 अदद आधार कार्ड (मृतक सुरेशचन्द्र) व 2700/- रुपये बरामद किया गया। विवेचना से उक्त अभियोग में धारा 394/411 भादवि पंजीकृत किया गया।

अपर पुलिस अधीक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस द्वारा अभियुक्त देशराज से पूछताछ पर उसने बताया कि वह नशे का आदी है और शराब न मिलने पर धतूरे आदि का बीज खा लेता है। इसी नशे के कारण पूर्व में भी कई लोगों से उसकी मार-पीट हो जाती थी । एक शाम वह सरायबरई चौराहे पर एक दुकान पर खड़ा था कि उसी समय पुजारी बाबा सुरेशचन्द्र जो हनुमान मन्दिर पर रहते थे, साइकिल से आये और बात कर रहे थे कि गेहूं बेचकर 10 हजार रूपये मिले हैं, कल रूपये जमा करने रामसनेहीघाट जाऊंगा। उसे रूपये की आवश्यकता थी क्योंकि एक आदमी से उसकी बात हुई और उसने शादी कराने के लिए 50 हजार रूपये देने की बात कही थी। हत्याभियुक्त द्वारा बताया गया कि उसने शराब पी और रात को करीब 1 बजे मन्दिर गया और रूपये निकालने के लिए दरवाजा खोलना चाहा तो बाबा जग गये और पहचान जाने के डर से बगल में रखे सरिया से बाबा के सिर पर वार किया बाबा के चिल्लाने पर उनके चेहरे पर उसी सरिया से प्रहार किया । सरिया को नहर पुलिया के पास झाडियों में फेंक दिया । घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के आधार व सर्विलांस के माध्यम से घटना के समय अभियुक्त की उपस्थिति घटनास्थल के आस-पास होने की पुष्टि हुई है एवं अभियुक्त से प्राप्त कपड़ो पर खून के छींटे भी मिले हैं, जिनकी पुष्टि मानव रक्त के रूप में हुई है।

हत्याभियुक्त को गिरफ्तार कर विधिक कार्यवाही की जा रही है वही सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा करने वाली टीम को 25000रु0 का इनाम दिया गया। घटना का खुलासा करने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक नारदमुनि सिंह, उ0नि0 दीपेन्द्र विक्रम सिंह, हे0का0राजकुमार वर्मा आदि सम्मिलित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *