Breaking News

पीएम के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी, यति नरसिंहानंद गिरि के खिलाफ एफआईआर दर्ज

डासना देवी मंदिर के पीठाधीश्वर यति नरसिंहानंद गिरि के खिलाफ मंगलवार को एक एफआईआर दर्ज हुई है। एसपी ईरज राजा ने बताया है कि सोशल मीडिया में एक वीडियो सामने आया है। इसमें यति नरसिंहानंद गिरि प्रधानमंत्री व अन्य महापुरुषों को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी कर रहे हैं। इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। आपको बता दें कि यति नरसिंहानंद गिरि 2 दिन पहले एक ऑनलाइन कार्यक्रम में देशभर से जुड़े लोगों के सवालों के जवाब दे रहे थे। दरअसल एक ऑनलाइन प्रोग्राम में यति नरसिंहानंद से सवाल पूछे जा रहे थे। जिसमें उन्होंने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा ”मैं जयचंद की दोस्ती को चुनूंगा। पृथ्वीराज चौहान ने गद्दारी की है, जयचंद की कोई गलती नहीं है। पृथ्वीराज चौहान और जयचंद मौसेरे भाई थे।

पृथ्वीराज चौहान कहीं भी लड़ने के लिए जाता था तो वो जयचंद को बुला लेता था। बाद में जयचंद की बेटी का ही पृथ्वीराज चौहान ने अपहरण कर लिया। जयचंद ने कहीं भी मुहम्मद गौरी की सहायता नहीं की। सारी गलती पृथ्वीराज चौहान की थी। अपने सारे राजपूतों को मार दिया। मुहम्मद गौरी को नहीं मारा, उसे बार-बार छोड़ता रहा। जयचंद की दोस्ती बेमिसाल दोस्ती है। जयचंद की गलती है कि वो हिंदुओं में पैदा हुआ। मानवीय गुणों के आधार पर जिस दिन फैसला करोगे, उस दिन पता चलेगा कि जयचंद कितना महान व्यक्ति था। इतिहास ने उसके साथ अन्याय किया है। ये गुलामों का देश है।” एक और ऑनलाइन सवाल के जवाब में यति नरसिंहानंद गिरि ने कहा, ”जो आज मोदीजी कर रहे हैं, अपने समय में यही पृथ्वीराज चौहान ने किया था।

 

किसी भी हिन्दू को जीवित नहीं छोड़ा था। किसी भी राजा की लड़की नहीं छोड़ी थी। सबकी लड़की उठा रहा था। यहां तक की भाई की लड़की उठा ली। राजपूतों के सारे योद्धाओं को मार दिया। लेकिन मुसलमान को मारा नहीं। इसे (गौरी को) बार-बार महान बनने के लिए छोड़ता रहा। आखिर में उसको मुसलमान ने ही मारा। यही गांधीजी ने किया। आज यही काम मोदी जी कर रहे हैं। और आज हम पृथ्वीराज चौहान और मोदीजी का गुणगान कर रहे हैं। जयचंद कितना महान व्यक्ति था, ये बाद में पता चलेगा। हिंदुओं को गुलामी की आदत है। ये वो देश है, जहां पर पृथ्वीराज चौहान, गांधी महान हो जाते हैं। नाथूराम गोडसे, वीर सावरकर को यहां पर गाली दी जाती है। व्यक्तिगत रूप से मैं जयचंद के साथ था और रहूंगा।”

ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर ने ट्विटर हैंडल से इस वीडियो को ट्वीट किया। इसके बाद सोशल मीडिया में यति नरसिंहानंद के इस विवादित बयान का वीडियो वायरल हो गया। गाजियाबाद के मसूरी थाने में इस संबंध में यति नरसिंहानंद गिरि के विरुद्ध मंगलवार को एक मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। यति नरसिंहानंद गिरि ने इस बयान और वीडियो पर अपनी सफाई दी। उन्होंने कहा, ‘मोहम्मद जुबैर नाम का जिहादी अपनी टीम के साथ उनके वीडियो को काट छांटकर इसलिए वायरल करता है कि लोग उत्तेजित होकर मेरी हत्या कर दें। मैं बहुत स्पष्ट करना चाहता हूं कि एक योद्धा के रूप में पृथ्वीराज चौहान का बहुत सम्मान करता हूं। पर बार-बार मोहम्मद गोरी जैसे दुर्दांत हत्यारे और लुटेरे को जीवित छोड़ने और अपने सगे छोटे मौसेरे भाई जयचंद की बेटी के अपहरण जैसे कार्यों का मैं कभी समर्थन नहीं कर सकता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *