Breaking News

पीएनबी धोखाधड़ी मामले में भगोड़े नीरव मोदी की बहन गैर जमानती वॉरंट रद्द कराने पहुंची अदालत

पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले में आरोपी और भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की बहन और उनके पति ने अपने विरुद्ध जारी गैर जमानती वॉरंट (non bailable warrant) को रद्द करने के लिए बृहस्पतिवार को अदालत का रुख किया। नीरव की छोटी बहन पूर्वी मोदी बेल्जियम की नागरिक हैं और उनके पति मयंक मेहता के पास ब्रिटेन की नागरिकता है। पहले दोनों इस मामले में आरोपी थे लेकिन पिछले महीने यहां पीएमएलए अदालत ने सरकारी गवाह बनने की उनकी याचिका स्वीकार कर ली थी। दंपत्ति ने अपने वकीलों के जरिये, धन शोधन निवारण अधिनियम विशेष अदालत के न्यायाधीश वी सी बर्डे के समक्ष वारंट रद्द करने की याचिका दायर की। अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय को जवाब देने को कहा और मामले की सुनवाई 11 फरवरी तक के लिए टाल दी।

चोकसी की संपत्ति कुर्क

इस बीच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस मामले में गीतांजलि समूह और मुख्य आरोपी एवं इसके प्रवर्तक मेहुल चोकसी की 14 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कुर्क है। यह मामला 13,000 करोड़ रुपये से अधिक का है। ईडी ने एक बयान में कहा कि धन शोधन रोधी कानून के तहत कुर्क की गई संपत्ति में मुंबई के गोरेगांव इलाके में ओ2 टावर स्थित 1,460 वर्ग फुट आकार का एक फ्लैट, सोने एवं प्लेटिनम के आभूषण, हीरे, चांदी एवं मोतियों के नेकलेस, घड़ियां और एक मर्सिडीज बेंज कार शामिल हैं। चोकसी भारत से भाग गया है और जांच एजेंसियों के मुताबिक वह एंटीगा और बारबुडा में रह रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *