Breaking News

पिता पंजाबी, मां का तमिलनाडु से नाता; भारतीय मूल की अनिता बनीं ट्रूडो सरकार में मंत्री

भारतीय मूल की कनाडाई पॉलिटीशियन अनिता आनंद कनाडा की नई रक्षामंत्री बनी हैं। जस्टिन ट्रूडो की कैबिनेट से पूर्व रक्षामंत्री हरजीत सिंह सज्जन को हटाकर मंगलवार को उन्हें यह जिम्मेदारी दी गई है। कनाडा में हाल ही में हुए चुनावों के बाद लिबरल पार्टी ने दोबारा सरकार बनाई है। अनिता और ट्रूडो दोनों इस पार्टी के सदस्य हैं।

रक्षामंत्री की जिम्मेदारी संभालनेके बाद अनिता ने मीडिया से कहा कि उनकी पहली जिम्मेदारी कनाडा की सेना को सुरक्षित महसूस कराना है। कोरोना महामारी के समय कनाडा के लिए वैक्सीन खरीदने और आपूर्ति सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी अनिता पर ही थी।

ट्रूडो का शुक्रिया अदा किया अनिता ने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि कनाडा की आर्मी देश के लोगों की रक्षा के लिए अपनी जान की बाजी लगा रही है। उन्हें सुरक्षित और स्वस्थ माहौल में काम करने की जरूरत है।

अनिता वकील, माता-पिता डॉक्टर 54 साल की अनिता पेशे से वकील हैं। वे पहली बार 2019 में कैबिनेट मेंत्री बनीं थीं। उन्हें सार्वजनिक सेवाओं का खरीद मंत्री बनाया गया था। अनिता कनाडा का रक्षा मंत्रालय संभालने वाली दूसरी महिला होंगी। इससे पहले 1990 में किम कैंबल ने ये जिम्मेदारी संभाली थी। अनिता की मां तमिलनाडु जबकि मां पंजाब के रहने वाले थे, हालांकि उनका जन्म कनाडा में ही हुआ था।

सज्जन को क्यों हटाया गया? कनाडा के कई सैन्य अधिकारियों पर पिछले कुछ दिनों से महिला सैनिकों के साथ यौन शोषण के आरोप लग रहे हैं। आरोप है कि पूर्व रक्षामंत्री हरजीत सिंह सज्जन इन मसलों को सही ढंग से मैनेज नहीं कर पा रहे थे।

रक्षा विशेषज्ञ भी अनिता को रक्षामंत्री बनाए जाने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि एक महिला को रक्षामंत्री बनाने से सेना में यौन शोषण के पीड़ितों के बीच अच्छा संदेश जाएगा। सज्जन को अंतरराष्ट्रीय विकास एजेंसी मंत्री बनाया गया है। वे 2015 से अब तक कनाडा के रक्षामंत्री थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *