Breaking News

पाक को फिर कार्रवाई का डर, UN महासभा में पाकिस्तान ने भारत को लेकर दिया ये बयान

पाकिस्तान (Pakistan) को डर सता रहा है कि भारत उसके खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कोई बड़ी कार्रवाई कर सकता है. संयुक्त राष्ट्र में (UN) में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम (Munir Akram) ने अपने इस डर से दुनिया को रू-ब-रू कराया. UN महासभा की बैठक में बोलते हुए उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन सहित विभिन्न मुद्दों पर घिरी भारत सरकार (Indian Government) ध्यान भटकाने के लिए पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है.

गलत खबरें फैलाने का आरोप

पाकिस्तान (Pakistan) के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम (Munir Akram) ने दावा किया कि भारत इस्लामाबाद को लेकर अपने आक्रामक रवैये को सही ठहराने के लिए फॉल्स फ्लैग ऑपरेशन (False Flag Operation) को अंजाम दे सकता है. उन्होंने यह भी कहा कि भारत सरकार आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान के खिलाफ भ्रामक और गलत खबरें फैला रही है. ताकि उसकी छवि प्रभावित की जा सके. अकरम ने कहा कि भारत सरकार विभिन्न मोर्चों पर दबाव का सामना कर रही है और इससे ध्यान भटकाने के लिए वो पाकिस्तान के खिलाफ कोई कार्रवाई कर सकती है.

क्या होता है False Flag Operation?

फॉल्स फ्लैग ऑपरेशन ऐसे अभियानों को कहा जाता है जहां ऑपरेशन पूरा करने वालों की पहचान छिपा ली जाती है. इस तरह के ऑपरेशन को अंजाम देने वाला यदि पकड़ा जाता है, तो उससे पूरी तरह मुंह फेर लिया जाता है. फॉल्स फ्लैग ऑपरेशन को अंजाम देने वालों को भी यह पता होता है कि अगर वे पकड़े गए तो सरकार उन्हें कभी अपना नहीं मानेगी.

फिर रोया Kashmir का रोना

UN में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम ने कश्मीर का मुद्दा भी उठाया. उन्होंने कहा कि भारत ने कश्मीरियों के फैसले लेने के अधिकार को दबा दिया है. उसकी सेना स्थानीय लोगों पर अत्याचार कर रही है. मुस्लिमों की ज्यादा आबादी वाले राज्य को हिंदू बहुल क्षेत्र में बदलने के लिए अभियान चलाया जा रहा है, जो अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत अपराध है.

बयान साजिश का हिस्सा?

अकरम ने पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि फरवरी, 2019 में हुए हमले के बाद भारत की तरफ से युद्ध जैसे हालात बना दिए थे, लेकिन पाकिस्तान ने संयम का परिचय दिया. अकरम ने दावा किया कि पुलवामा हमले में स्थानीय लोग शामिल थे. पाकिस्तान का उसमें कोई हाथ नहीं था. दरअसल, G-4 देश भारत, ब्राजील, जर्मनी और जापान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में सुधार की मांग कर रहे हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि भारत के रास्ते में अड़ंगा डालने के लिए पाकिस्तान उसके खिलाफ बेमतलब की बयानबाजी कर रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *