Breaking News

देश के इन 30 जिलों में लॉकडाउन 4.0 का रहेगा सख्त नियम, नहीं मिलेंगी कोई रियायतें

कोरोना महामारी का कहर हर दिन बढ़ रहा है. हजारों की संख्या में नए मरीज सरकार के लिए बड़ी चुनौती बन गए है. ऐसे में देश की अर्थव्यवस्था भी पूरी तरह से हिल गई है. लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चौथे लॉकडाउन का बढ़ना तय है. हाल ही में सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक लॉकडाउन बढ़ने के बाद देश के 30 करीब जिलों में पहले की ही तरह सख्त लॉकडाउन जारी रह सकता है. इनमें वो जिले शामिल हैं, जहां पर कोरोना महामारी ने सबसे ज्यादा तांडव मचाया है. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई, औरंगाबाद, पुणे, पालघर, सोलापुर, नासिक और ठाणे में लॉकडाउन का नियम सख्त ही रहेगा.

इसके साथ ही तमिलनाडु के कुड्डालोर, चेंगलपट्टू, अरियालुर, विल्लुपुरम, तिरुवल्लूर के साथ ग्रेटर चेन्नई जिलों में भी लॉकडाउन का नियम काफी सख्त होगा. तमिलनाडु के अलावा बात करें गुजरात की, तो यहां के अहमदाबाद, वडोदरा और सूरत में भी पहले की ही तरह लॉकडाउन कठोर रहेगा. गुजरात ही नहीं बल्कि देश की राजधानी दिल्ली भी इसी लिस्ट में शामिल है. ऐसे में ये बात स्पष्ट है कि इन जगहों पर छूट मिलने की संभावना बहुत ही कम है. इन राज्यों के जिलों के अलावा मध्य प्रदेश के भोपाल, इंदौर, के साथ-साथ पश्चिम बंगाल के हावड़ा और कोलकाता में भी लॉकडाउन का नियम सख्त तरीके से ही जारी रहेगा.बात करें राजस्थान की तो यहां पर भी कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़े, इसके कारण यहां के जयपुर, जोधपुर, उदयपुर में भी सख्ती से लॉकडाउन का पालन किया जाएगा. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के आगरा और मेरठ में भी लॉकडाउन का ऐसा ही नियम रहेगा. बता दें कि आंध्र प्रदेश के कुरनुल, तेलंगाना के ग्रेटर हैदराबाद के अलावा पंजाब के अमृतसर और ओडिशा के बेरहमपुर में भी लॉकडाउन सख्त होगा.

फिलहाल बात करें तीसरे लॉकडाउन की तो आज यानी 17 मई को ये खत्म हो रहा है. ऐसे में 18 मई से लॉकडाउन को फिर से बढ़ाया जा रहा है. लेकिन चौथा लॉकडाउन कब से कब तक जारी रहेगा इसके बारे में अभी तक साफ नहीं किया गया है. लेकिन अंदाजा लगाया जा रहा है कि ये लॉकडाउन दो हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है. हालांकि इस बार के लॉकडाउन के साथ लोगों को क्या रियायतें मिलने वाली हैं, इसके बारे में सरकार आज घोषणा कर सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *