Breaking News

दादा की मौत पर पोते का सेलिब्रेट, बार बाला का डांस और हर्ष फायरिंग

अभी तक आपने शादी-तिलक समारोह में हर्ष फायरिंग (firing) की बात सुनी होगी, जहां लोग हथियारों का प्रदर्शन (weapons display) करते हैं और हर्ष फायरिंग की वजह से कई बार जानलेवा घटना भी हो जाती है. ताजा मामला बिहार के बांका जिले (Banka district of Bihar) के अमरपुर थाना क्षेत्र का है. यहां तेतरिया किशनपुर गांव में दादा की मौत (grandfather death) के बाद पोता श्राद्धकर्म को सेलिब्रेट कर रहा था. पोते ने इस मौके पर बार बालाओं का डांस कराया. उसने डांस करते हुए हाथों में रायफल और दोनाली बंदूक लेकर लगातार फायरिंग की. इस मामले का वीडियो जिले में वायरल हो रहा है. लोग पुलिस की मुस्तैदी पर प्रश्न चिह्न लगा रहे हैं.

आरोपियों ने की जमकर फायरिंग
दादा के श्राद्धकर्म के बाद देर रात जमकर फायरिंग करने वाले दोनों युवकों के नाम राजेश यादव और मिथिलेश यादव बताए जा रहे हैं. स्थानीय लोगों के मुताबिक, राजेश के दादा की हाल ही में मौत हुई थी. उसके बाद श्राद्धकर्म को सेलिब्रेट करने के लिए पोते ने बार बाला के डांस का आयोजन करवाया. इसमें पोते ने जमकर हर्ष फायरिंग की. घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस की नींद उड़ गई. पुलिस ने स्वतः संज्ञान लेकर मामले की जांच शुरू की है.

आरोपी मिथिलेश की हुई गिरफ्तारी
घटना के बाद एसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने बार बाला के डांस के आयोजन की पुष्टि करते हुए बताया कि आर्केस्ट्रा में डांस की बात पता चली थी. वीडियो को ध्यान से देखने के बाद अवैध हथियार से फायरिंग की बात सामने आई. एसपी के मुताबिक, आरोपी राजेश कुख्यात अपराधकर्मी है. आधा दर्जन आपराधिक मामलों में पुलिस उसे महीनों से तलाश कर रही थी. एसपी अरविंद गुप्ता ने कहा कि मिथिलेश और राजेश दोनों का क्राइम रिकॉर्ड रहा है. दोनों कई बार जेल जा चुके हैं. पुलिस ने आरोपी मिथिलेश को गिरफ्तार कर लिया है. राजेश फरार हो गया है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

छापेमारी में अवैध हथियार बरामद
पुलिस के मुताबिक आरोपी के घर से अवैध हथियार मिले हैं. पुलिस ने आरोपी के घर से दोनाली बंदूक, एक मस्केट जे के साथ जिंदा कारतूस बरामद किया है. एसपी ने बताया कि मामले में बहुत जल्द चार्जशीट दाखिल की जाएगी. दोनों आरोपियों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलाकर जल्द से जल्द सजा दिलवाई जाएगी. स्थानीय लोगों का कहना है कि गांव में कई अपराधी सरस्वती पूजा के नाम पर भी बार बाला बुलाकर खुलेआम हथियार का प्रदर्शन कर चुके हैं, लेकिन पुलिस किसी पर अभी तक कार्रवाई नहीं कर पाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *